breaking news New

अस्थाई जेल जाने वाले घबराएं नहीं, 50-100 रुपये लेकर उतार देता है जवान रास्ते में

 अस्थाई जेल जाने वाले घबराएं नहीं, 50-100 रुपये लेकर उतार देता है जवान रास्ते में

इंदौर। जिला प्रशासन के आदेश से कोविड 19 का पालन नहीं करने वालों को हर थाना क्षेत्र से सिटी बसों के जरिए अस्थाई जेल भेजा जा रहा है। इसमें बीमार, बुजुर्ग, मेडिकल स्टोर जाने वाले, परिवार में किसी की मैय्यत हो गई है वहां जाने वाले, महिलाएं जो जरूरी काम से बाहर निकली, कुछ युवतियां जिनहें घरवालों ने जरूरी काम से भेजा है उन सबको अस्थाई जेल भेजा जा रहा है। लेकिन किसी भी थाना प्रभारी के पास यह सूची नहीं है कि इन्होंने किस क्षेत्र से कितने लोग अस्थाई जेल भेजा। यह रिकार्ड सिर्फ सेंट्रल जेल अधीक्षक राकेश भंगरे के पास है, क्योंकि यहां पर आने वाले हर बंदी की एंटी की जाती है।

रास्ते में जवान ने कितनी बंदियों को उतारा इसकी एंट्री किसी के पास नहीं है। सूत्रों की मानें तो शहर के किसी थाना प्रभारी को मालूम हो या ना हो कि अस्थाई जेल जाने वाले की गिनती कितनी है? खजराना थाना प्रभारी दिनेश वर्मा को जरूर मालूम है कि यह अवैध वसूली कैसे की जा रही है। क्योंकि इसमें भी बंदरबांट होती है यह भी अपुष्ट सूत्र बताते हैं। इधर यह भी पता चला है कि अगर कोई बीमार को अस्थाई जेल भेजा जाता है और उसकी तबीयत रास्ते में बिगड़ जाती है तो जवान उसे रास्ते में सड़क पर पटक कर सिटी बस से रवाना हो जाते हैं।

खजराना थाना क्षेत्र व अन्य थाना क्षेत्र के उन लोगों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि हम जरूरी काम से जा रहे थे, हमें सिटी बस में दादागिरी के सबल पर जवानों वह नगर सुरक्षा समिति के सदस्यों ने बिठा दिया। शुक्र करो हमारे पास 50-100 रुपये थे हमने जवानों को 100 रुपये दिए उसने तुरंत हमें उतार दिया और कहा कि चुपचाप चले जाना किसी को मत बताना अगर दोबारा पकड़े गए तो उसके जिम्मेदार हम नहीं हैं। इधर अपुष्ट सूत्रों का कहना है कि प्रतिदिन की जो कमाई होती है उसका हिस्सा थाना प्रभारी के पास भेज दिया जाता है वह भी थाना प्रभारी के खास के पास। बुजुर्गौं का यह कहना है कि अस्थाई जेल जो जारहे हैं उसका रिकार्ड जेल वालों के पास है कल को यह सरकार चली जाती है और दूसरी सरकार आती है तो जैसे मीसा बंदियों को पेंशन मिठाई ऐसे इन आस्थाई जेल वालों को भी पेंशन मिल सकती है। क्योंकि यह भी अस्थाई जेल में जाकर प्रताडि़त हुए हैं यहां तक कि इनकी पिटाई भी हुई है। इस पिटाई में युवती और महिलाएं भी शामिल हैं।