breaking news New

67 की उम्र में साइकिल चलाकर विश्व धीमान ने बनाया कीर्तिमान

 67 की उम्र में साइकिल चलाकर विश्व धीमान ने बनाया कीर्तिमान

देहरादून। दून की विश्व धीमान को देहरादून का पहला साइकिल मेयर नामित किया गया है। साइक्लिंग को प्रोत्साहित करने वाली संस्था बाईसाइकिल मेयर इसके लिए चर्चित साइक्लिस्टों को नामित करती है। दून में बीन देयर दून दैट संस्था से जुड़ीं 67 वर्षीय विश्व धीमान अपने पति के साथ रोजाना 80 से 100 किलोमीटर साइकिल चलाती हैं।

करीब 2014 में जब वह दोनों घुटनों की समस्या से जूझ रही थीं। डॉक्टर ने उन्हें घुटने के ज्वाइंट रिप्लेसमेंट तक की सलाह दे दी थी, लेकिन अपने बेटे की सलाह मानते हुए उन्होंने रोजाना साइक्लिंग शुरू की।

उनकी साइक्लिंग का दायरा पहले दून शहर, फिर आसपास के शहर, फिर लंबे रूट होने लगे। पिछले सात साल में ही वह साइकिल से दून से चारधाम यात्रा, नार्थ ईस्ट के अरुणाचल प्रदेश के भारतीय बॉर्डर तक, विश्व की सबसे ऊंची सडक़ खार्दुंग ला पास की साहसिक यात्रा पूरी कर चुकी हैं। 2020 में उन्होंने साइकिल पर कश्मीर से कन्याकुमारी की यात्रा पूरी कर सबसे उम्रदराज साइक्लिस्ट होने का तमगा हासिल किया।

उन्होंने कश्मीर से पुणे तक की साहसिक यात्रा भी साइकिल से पूरी की। इन सभी यात्राओं के दौरान उन्हें पति का भी भरपूर सपोर्ट मिला। वह इन यात्राओं में हरदम उनके साथ चलते हैं। जबकि वह खुद 72 साल के हैं। विश्व धीमान के मुताबिक उन्हें साइक्लिंग से प्यार है।