breaking news New

आजादी के सात दशक बाद भी नही पहुँच सकी सड़क ,तरसते ग्रामवासी, फेडरेशन ने उग्र आंदोलन की दी चेतावनी

आजादी के सात दशक बाद भी नही पहुँच सकी सड़क ,तरसते ग्रामवासी, फेडरेशन ने उग्र आंदोलन की दी चेतावनी

विका के लिए संघर्ष करते ग्रामीणो की मूलभूत सुविधा है सडक जिससे 7 दसक से दुर ग्रामीण, एआईएसएफ,एआईयाईएफ सड़क पर  धान रोपाई कर विरोध जताया

सुकमा।   मुख्यालय से महज 02 किलोमीटर की दूरी पर गोंगला गांव स्तिथ है। जहां आजादी के सात दशक पश्चात भी सड़क सुविधा नही पहुंच पाई है। इन सात दसक मे कितने विकास के रास्ते बने लेकिन गांववाशी  से सुकमा   सड़क की मांग बीते कई वर्षों से करते आ रहे हैं परन्तु आज पर्यंत तक मांग पूरी नही हुई। मुख्यमंत्री  के घोषणा के बाद भी जमीन स्तर पर कोई कार्य नहीं होता देख नाराज ग्रामीणों ने शुक्रवार को फेडरेशन के साथ विरोध प्रदर्शन करते हुए सुकमा-गोंगला मार्ग में धान रोपण किया और प्रशासन के प्रति नाराजगी व्यक्त की।

 फेडरेशन के सदस्य राजेश नाग ने कहा कि ग्राम पंचायत गोंगला में सुविधाओं के लिए जिला प्रशासन को अवगत भी कराया और ग्रामवासी भी पहले कई दफा अधिकारीयों को अवगत कराया लेकिन किसी ने भी अब तक ठोस कदम नहीं उठाया। गांव के हेंडपंप में आयरन युक्त पानी है जो बिल्कुल भी पीने योग्य पानी है। अगर इस तरह पानी पीते रहे तो कई तरह बीमारी से  पीड़ित हो जाएंगे। गांव में बिजली जो की केरलापाल क्षेत्र से आया है , आए दिन बिजली की समस्या रहती है। पानी भी आयरन युक्त आता है उसकी भी व्यवस्था जल्द किया जाए। सड़क की स्थिति ठीक नहीं होने के कारण जिला मुख्यालय पहुचने में लगभग 50-100 रूपये लगते हैं। बारिश में सड़क की हालत इतनी बत्तर होती है कि स्कूली बच्चे को भी आने जाने में बहुत ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है सड़क अब धीरे धीरे गड्डे में तब्दील हो रहा है । अगर प्रशासन गांव की परेशानियों को जल्द दूर नही करेगा तो आने वाले समय मे फेडरेशन उग्र आंदोलन करेगी।

विरोध प्रदर्शन में एआईएसएफ प्रदेश अध्यक्ष महेश कुंजाम,एआईयाईएफ प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश नाग,नगर अध्यक्ष लक्ष्मण मंडावी,उमेश मरकाम,सोनू, लक्ष्मी नाथ मौर्य और गांव की महिलाएं मौजूद रही।