breaking news New

सक्ती सर्व ब्राह्मण समाज के द्वारा धूमधाम से मनाया गया अक्षय तृतीया के दिन परशुराम जयंती

सक्ती सर्व ब्राह्मण समाज के द्वारा धूमधाम से मनाया गया अक्षय तृतीया के दिन परशुराम जयंती

सक्ती।  सर्व ब्राह्मण समाज सक्ति के द्वारा अक्षय तृतीया पर निकाली गई भव्य परशुराम जी की शोभायात्रा यह शोभायात्रा  परशुराम मंदिर से निकलकर नगर के विभिन्न मार्गो से गुजरते हुए शोभायात्रा  मंदिर पहुंची जहां सर्व ब्राम्हण समाज के द्वारा महाआरती कर प्रसाद वितरण कर महा भंडारे का  आयोजन हटरी धर्मशाला किया गया !


जहां सैकड़ों की संख्या में भक्तगणों ने महा भंडारे का  प्रसाद ग्रहण कर पुण्य का लाभ उठाया  इस अवसर पर पंडित भोला शंकर तिवारी  ने कहा कि भगवान परशुराम का प्रारंभिक नाम राम के नाम से जाने जाते थे परंतु जब कालांतर में महादेव से फरशा प्राप्त होने के बाद उन्हें परशुराम के नाम से जाना गया और परशुराम भगवान विष्णु के छठे अवतार है इनके द्वारा अनेकों बार जब जब धरती पर अत्याचार बड़ा तब तब उनका सर्वनाश किया इनका जन्म अछय तृतीया के दिन  हुआ था और परशुराम समस्त शश्त्र शास्त्र के ज्ञाता थे और 21 बार अहंकारी अत्याचारी राजाओं का संहार दंडित कर पृथ्वी पर सत्य  धर्म की स्थापना की थी .

संपूर्ण मानव जाति को निर्भय किया था और आज सर्व ब्राहमण समाज के द्वारा भगवान परशुराम की शोभायात्रा निकालकर उनका जन्म दिन मनाया जा रहा है शोभा यात्रा के बाद महा आरती पूजन कर प्रसाद वितरण किया गया सनातन संस्कृति में अक्षय तृतीया का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है वेदों के अनुसार आज के दिन सतयुग का अंत और त्रेतायुग का आरंभ हुआ था आज के ही दिन भगवान विष्णु के छठवें अवतार भगवान परशूराम जी का अवतरण हुआ था !

इस अवसर पर भोला शंकर तिवारी पंडित राधे श्याम शर्मा डॉ मिश्रा राजेश शर्मा घड़ी सुदेश शर्मा मुकेश शर्मा धीरज शर्मा कमल शर्मा ओमप्रकाश वैष्णव घनश्याम पांडे देवेंद्र नाथ अग्निहोत्री अनिल शर्मा सजन शर्मा रवि शर्मा उमेश शर्मा रमेश चंद्र शर्मा संजु शर्मा भोकू महराज विष्णु शर्मा चंद्र प्रकाश तिवारी विकास तिवारी रिंकू शर्मा संतोष शर्मा सहित सर्व ब्राह्मण समाज के पदाधिकारी एवं समाज के ब्राह्मण गण उपस्थित थे !