breaking news New

विधवा पुनर्विवाह में रेड क्रॉस सोसाइटी और फ्रीडम अकादमी की सहभागिता

विधवा पुनर्विवाह में रेड क्रॉस सोसाइटी और फ्रीडम अकादमी की सहभागिता

धमतरी, 11 जनवरी। धमतरी जिला के ग्राम साकरा की प्रेमीन साहू पिता पुरुषोत्तम साहू और गरियाबंद जिले के फुलबाहरा गांव के देवेंद्र कुमार गंजीर पिता धरमदास गंजीर का आदर्श पुनर विवाह दिनांक 10.01.2021 को ग्राम साकरा में समाज के लोगों की उपस्थिति में एक सादे समारोह में संपन्न हुआ. इस आदर्श विवाह ने विधवा व विदुर के प्रति समाज के सोच में बदलाव के साथ एक सकारात्मक संदेश दिया है.

प्रेमीन के पति की आकस्मिक मृत्यु बरसो पहले हो चुकी थी जबकि दो बच्चे 13 वर्ष का 11 वर्ष की लड़की एवं लड़का है वही देवेंद्र कुमार जंजीर के दो लड़के 7 वर्ष तथा 5 वर्ष के हैं जबकि उसकी पत्नी की मृत्यु कुछ वर्ष पहले हो चुकी थी. दोनों अपने जिंदगी में खालीपन से जूझ रहे थे. लेकिन इस पुनर्विवाह में जहां चारों बच्चों को माता पिता का प्यार और सानिध्य नसीब हो गया वही दोनों की जिंदगी से खालीपन दूर होकर जिंदगी की गाड़ी में गति आ गई ।इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी और फ्रीडम अकादमी के लोकेश्वर साहू आकाश गिरी गोस्वामी दुष्यंत सिन्हा भूपेंद्र साहू पुरुषोत्तम साहू इस समारोह में सम्मिलित होकर सहभागिता प्रदान की एवं वर-वधू को दांपत्य जीवन की शुभकामनाएं दी है तथा इस प्रकार के विधवा पुनर्विवाह के के साथ-साथ समाज के सकारात्मक पहल के लिए लिए हमेशा सेवा तथा सहयोग हेतु तत्पर रहने की बात की .साकरा साहू समाज के अध्यक्ष पालकेश्वर साहू ने कहां कि  इस आदर्श पुनर्विवाह से  अन्य लोगों को भी प्रेरणा लेनी चाहिए और समाज में इस प्रकार के विवाह को प्रोत्साहन देने की बात की ताकि विधवा और विदुर के जीवन में निराशा और हताशा को दूर करके  उनके जीवन में खुशियों का बहार लाया जा सके. इस अवसर पर समाज के सचिव लक्ष्मी नारायण कोषाध्यक्ष कुलेश्वर साहू  कामदेव साहू कार्यकारिणी के पुराणिक साहू कुलेश्वर साहू कपिल साहू उमाशंकर साहू गीता प्रसाद साहू नरेंद्र साहू कुंतल साहू हुलेश्वर कुमार रामकुमार के साथ-साथ ग्रामीण सजातीय बंधुओं उपस्थित हुए वही वर पक्ष की ओर से खिलावन साहू केशव साहू महेंद्र साहू श्री राम साहू गीतेश्वर साहू कामेंद्र साहू महेश साहू आदि उपस्थित थे ।गांव के समाज के गणमान्य एवं सजातीय बंधुओं  ने वर-वधू  को आशीष देकर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की तथा इस प्रकार के आदर्श पुनर विवाह की भूरी भूरी प्रशंसा की है।