breaking news New

जूम का पासवर्ड हो गया रिसेट, सर्वदलीय बैठक में राजनीतिक दलों ने जताई नाराजगी

जूम का पासवर्ड हो गया रिसेट,  सर्वदलीय बैठक में राजनीतिक दलों ने जताई नाराजगी

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना पर नियंत्रण के लिए सर्वदलीय बैठक  बुलाई गई थी।   बैठक में ही कोरोना प्रोटोकॉल टूट गए।  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से बुलाई गई बैठक वर्चुअली होनी थी। लेकिन, राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को रायपुर जिला पंचायत के सभागार में बुलाया गया। यहां से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये राज्यपाल और मुख्यमंत्री से उनकी बात हुई। बैठक के दौरान राज्यपाल राजभवन और मुख्यमंत्री CM हाउस के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग रूम में बैठे हुये थे। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम कोण्डागांव के NIC कक्ष में बैठे थे। इस बात को लेकर राजनीतिक दलों ने नाराजगी भी जताई।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने कहा, ‘कल हम लोगों को बताया गया कि जूम एप के जरिए वर्चुअल बैठक होगी। आज 12 बजे बताया गया कि जूम का जो पासवर्ड है वह रिसेट हो गया है इसलिये जूम में मीटिंग नहीं हो सकती।
 उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपने घर में बैठे हैं। राज्यपाल राजभवन में हैं तो फिर हम लोगों को क्यों बाहर लाया गया? छत्तीसगढ़ में यह जो दोहरी नीति चल रही है वह स्थिति को भयावह बना रहा है।’ दूसरे राजनीतिक दलों ने भी इस तरह अचानक उन्हें जिला पंचायत भवन बुलाने पर आपत्ति जताई है। भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि सरकार ने यह सर्वदलीय बैठक केवल औपचारिकता के लिए बुलाई थी। इसमें दिए गए सुझावों पर सरकार क्या करेगी मुख्यमंत्री ने यह नहीं बताया?

भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने बैठक में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव की अनुपस्थिति पर भी सवाल उठा दिए। शर्मा ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सरकार एकजुट है यह संदेश जनता के बीच जाना चाहिए। दुर्भाग्य से इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री को ही नहीं बुलाया गया है।

भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने अस्पतालों में ऑक्सीजन और वेंटिलेटर सुविधाओं की कमी का मामला उठाया। उनका सुझाव था कि सरकार को जितनी जल्दी हो सके ऑक्सीजन युक्त बेड और वेंटिलेटर की संख्या बढ़ानी चाहिए। जांच में तेजी लानी चाहिये। भाजपा नेताओं ने पैरामेडिकल स्टाफ की भर्ती करने का भी सुझाव दिया।


जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की ओर से अमित जाेगी ने कहा कि रायपुर में एक कोविड उपचार केंद्र स्थापित करने का प्रस्ताव किया। उन्होंने कहा कि सरकार अगर पांच हेक्टेयर जमीन और आर्थिक अनुदान देती है तो जनता कांग्रेस अपने संस्थापक अजीत जोगी की स्मृति में अस्पताल का एक प्रोटोटाइप मॉडल स्थापित करने का भरसक प्रयास करेगा। अमित जोगी ने क्रिकेट और हॉकी स्टेडियम को भी अस्पताल बनाने का सुझाव दिया।


कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा, यह वक्त राजनीति करने का नही है बल्कि लोगो की सेवा करने का है। उन्होंने कहा कि हमने अपनी पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को लोगों की मदद करने को एवं शासन प्रशासन से सहयोग करने को पहले ही कहा है। पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी जरूरतमंदों की मदद की जाएगी।