breaking news New

दिल्ली पुलिस ने 34 गुमशुदा नाबालिगों को ढूंढा, परिवार में लौटी खुशियां

दिल्ली पुलिस ने 34 गुमशुदा नाबालिगों को ढूंढा, परिवार में लौटी खुशियां

नयी दिल्ली।  दिल्ली पुलिस ने ‘खोये बच्चों की खोज’ अभियान के तहत 34 गुमशुदा नाबालिगों को ढूंढकर उनके परिवार में फिर से मिलाकर उन्हें खुशियां मनाने अवसर दिया है।

द्वारका जिले के पुलिस उपायुक्त संतोष कुमार मीणा ने बताया कि ‘खोये बच्चों की खोज’ अभियान के तहत मानव तस्करी विरोधी दल ने गत अगस्त में नौ लड़के एवं 25 लड़कियों को खोजकर उनके परिवार से फिर से मिला दिया। ये करीब 10 से 18 वर्ष की उम्र के नाबालिग बच्चे हैं। इन नाबालिगों के घर लौटने से उनके परिवार में खुशियां लौट आयी हैं।

उन्होंने बताया कि विशेष अभियान में मिले करीब 20 बच्चे ऐसे हैं, जिन्हें गुमशुदगी की शिकायत के 24 घंटे के भीतर पता लगाकर उनके घर पहुंचा दिया गया, जबकि 10 कई माह बाद मिले। पुलिस को ये बच्चे बस स्टैंडों, धार्मिक स्थलों, सुधार गृह, सड़क आदि स्थानों से मिले थे।


श्री मीणा ने बताया जांच के दौरान गुमशुदा नाबालिगों की तस्वीरें विभिन्न व्हाट्सएप्प समूहों में भेजी गईं। मोबाइल फोन की निगरानी के अलावा लापता होने के संभावित क्षेत्रों में स्थानीय लोगों से भी मदद ली गई। कोविड-स्वयंसेवकों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं (एनजीओ) की मदद से कॉलोनियों एवं पार्कों के आसपास सार्वजनिक घोषाण प्रणाली के तहत प्रचार-प्रसार किये गये। इन प्रयासों के बाद पुलिस दल को बच्चों को ढूंढने में सफलता मिली।