breaking news New

नीट से छूट के लिए तमिलनाडु विधानसभा में बिल पास, कहा- खत्म करके देंगे समान अवसर

नीट से छूट के लिए तमिलनाडु विधानसभा में बिल पास, कहा- खत्म करके देंगे समान अवसर

चेन्नई। द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) सांसद कनिमोझी ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) सामाजिक न्याय के खिलाफ है। राज्य चाहता है कि उसके छात्रों को उचित मौका और समान अवसर दिया जाए। विधेयक के बारे में बोलते हुए, DMK सांसद ने कहा कि हम इसके खिलाफ हैं, क्योंकि यह सामाजिक न्याय के खिलाफ है।

कनिमोझी ने कहा, "हम राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) के खिलाफ हैं, हम NEET नहीं चाहते हैं। हम चाहते हैं कि हमारे छात्रों को एक उचित मौका और समान अवसर दिया जाए। यह सामाजिक न्याय के खिलाफ है। "

इससे पहले दिन में, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने विधानसभा में राज्य को NEET से स्थायी छूट देने के लिए एक विधेयक पेश किया था।

नीट (NEET) स्नातक चिकित्सा पाठ्यक्रमों के लिए अखिल भारतीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है। इस साल यह परीक्षा देशभर में 12 सितंबर को आयोजित की गई थी। COVID-19 के प्रकोप की दूसरी लहर के कारण NEET 2021 की परीक्षा में देरी हुई।