breaking news New

भयंकर वायु प्रदूषण की चपेट में दिल्ली-एनसीआर

भयंकर वायु प्रदूषण की चपेट में दिल्ली-एनसीआर

नई दिल्ली। प्रदूषण के चलते दिल्ली सरकार पटाखों पर बैन लगाया था, पटाखों के कारण आज पूरे दिल्ली एनसीआर में हवा की क्वालिटी गंभीर हाल में है। लोगो की शिकायत है कि इन पटाखों से आँखों में जलन हो रही है और दम भी घुटने लगा है। पूरा दिल्ली एनसीआर प्रदूषण से पटा पड़ा है।

दिल्ली से सटे गाजियाबाद के लोनी इलाके में पटाखों की खरीद-फरोख्त हुई. इसके अलावा गौतमबुद्ध नगर, हापुड़, शामली, बुलंदशहर हरियाणा के फरीदाबाद गुड़गांव जैसे इलाकों में भी बड़े पैमाने पर पटाखों की बिक्री हुई.

 प्रदूषण की आशंका के चलते ही दिल्ली सरकार ने पटाखों पर बैन लगाया था. इसके बावजूद पूरे इलाके में खूब आतिशबाजी हुई. नतीजा ये हुआ कि आज पूरे दिल्ली एनसीआर में हवा की क्वालिटी गंभीर हाल में है. यहां बड़े पैमाने पर रोक के बावजूद चोरी छुपे जमकर पटाखों की बिक्री की जा रही थी. 


दिल्ली पुलिस की मानें तो उन्होंने भरसक कोशिश की है कि किसी भी तरह प्रतिबंधित पटाखों को खरीद-फरोख्त से रोका जा सके. यही वजह रही कि दिल्ली में भारी पैमाने पर पटाखों की रिकवरी की गई और दो दर्जन से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार भी किया गया.

दिल्ली के नार्थ जिले की बात करें तो पुलिस ने करीब 10 क्विंटल पटाखे बरामद किए. यहां 5 आरोपी गिरफ्तार किए गए. दिल्ली के आउटर से 100 किलो, साउथ ईस्ट से 60 किलो, पूर्वी दिल्ली से 10 किलो, नार्थ ईस्ट से 32 किलो, रोहिनी से 40 किलो, नार्थ वेस्ट से 151 किलो और पश्चिमी जिले से 506 किलो पटाखों की बरामदगी हुई है. बता दें इससे भी ज्यादा पटाखे चोरी छुपे बाजार में भेज गए जिसका खामियाजा प्रदूषण के तौर पर सामने आया है.


दिल्ली पुलिस के मुताबिक पटाखे जलाने की 1143 कॉल दिल्ली पुलिस को मिली. इसमें पुलिस ने पटाखे जलाने को लेकर 210 केस रजिस्टर्ड किए. 28 अक्टूबर से दिवाली की रात तक पुलिस ने 19702 पटाखे जब्त किए हैं