आखिरी पत्र में जताई गई इच्छा को रघुवंश बाबू ने पीएम मोदी से स्पष्ट किया

आखिरी पत्र में जताई गई इच्छा को रघुवंश बाबू ने पीएम मोदी से स्पष्ट किया

पटना ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ.रघुवंश प्रसाद सिंह के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनके आखिरी पत्र में जताई गई इच्छा को वह और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मिलकर पूरा करेंगे।

श्री मोदी ने दुर्गापुर से बांका के बीच पाइपलाइन और पूर्वी चंपारण तथा बांका में एलपीजी बॉटलिंग प्लांट का रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन के दौरान डॉ. रघुवंश सिंह के निधन की खबर मिलने पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनके जाने से बिहार और देश की राजनीति में शून्‍य पैदा हो गया है। उन्‍होंने जमीन से जुड़ी राजनीति की । वे गरीबी को करीब से जानने वाले नेता थे। उन्होंने कहा, “पिछले तीन-चार दिनों से रघुवंश बाबू चर्चा में थे। इस बीच मैं भी लगातार उनके स्‍वास्‍थ्‍य की जानकारी ले रहा था। लगा कि जल्‍द स्‍वस्‍थ होकर वे फिर सेवा कार्य में जुट जाएंगे लेकिन यह बेहद दुखद खबर आई।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “मैं मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह करता हूं कि पिछले तीन-चार दिनों में अपने पत्र में रघुवंश बाबू ने वैशाली के बारे में जो भी चिंता व्‍यक्‍त की है, उसे सबलोग मिलकर पूरा करने का हरसंभव प्रयास करें। उन्‍होंने कहा कि इन दिनों रघुवंश बाबू के भीतर कुछ बातों को लेकर मंथन चल रहा था। उन्होंने जिन आदर्शो को लेकर राजनीति की और जिसके साथ चले थे, उनके साथ रहना संभव नहीं हो पा रहा था।

श्री मोदी ने कहा कि अस्‍वस्‍थ होते हुए भी उन्‍हें अपने क्षेत्र वैशाली की उतनी ही चिंता थी। उन्‍होंने अपनी चिंता बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर व्‍यक्‍त की। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का ध्‍यान वैशाली के विकास की ओर भी आकृष्‍ट कराया है। उन्होंने कहा, “मेरा बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह है कि रघुवंश बाबू ने पत्र में जो भी इच्‍छा जताई है उसे मैं और आप मिलकर पूरा करें। उनके सपनों और विकास कार्यो को हमलोग पूरा करेंगे।”