breaking news New

डिजिटल ऋण को लेकर आरबीआई ने किया कार्यसमिति का गठन

डिजिटल ऋण को लेकर आरबीआई ने किया कार्यसमिति का गठन

नयी दिल्ली . रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने ऑनलाइन और ऐप के जरिए दिए जाने वाले ऋणों के लिए एक कार्यसमिति का गठन किया है जो इस क्षेत्र के विनियमन के बारे में सुझाव देगी।

केंद्रीय बैंक ने बुधवार को बताया कि आरबीआई के कार्यकारी निदेशक जयंत कुमार दास की अध्यक्षता में छह सदस्यीय कार्यसमिति का गठन किया गया है। उसने कहा कि पिछले कुछ समय में ऑनलाइन और ऐप के जरिए (डिजिटल ऋण) काफी लोकप्रिय हुए हैं। इसे देखते हुए इस क्षेत्र के विकास के लिए तथा विनियमन के लिए कार्यसमिति अपने सुझाव देगी। कार्यसमिति बताएगी कि किस प्रकार इस क्षेत्र से जुड़े प्लेटफार्म का विस्तार किया जा सकता है और इसमें ग्राहकों की सुरक्षा बढ़ाई जा सकती है।

उसने कहा कि इस क्षेत्र में काफी संभावनाएं हैं। कार्यसमिति तीन महीने के अंदर अपनी रिपोर्ट देगी। कार्यसमिति में अध्यक्ष समेत चार आंतरिक सदस्य और दो बाहरी सदस्य होंगे।

आंतरिक सदस्यों में पर्यवेक्षण विभाग के मुख्य महाप्रबंधक अजय कुमार चौधरी, भुगतान एवं निपटान प्रणाली के मुख्य महाप्रबंधक पी. वासुदेवन और विनियमन विभाग के मुख्य महाप्रबंधक मनोरंजन मिश्रा शामिल हैं।

बाहरी सदस्य मोनेक्सो फिनटेक के सह संस्थापक विक्रम मेहता और साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ एवं क्लाउडएसईके के संस्थापक राहुल ससी हैं।