breaking news New

BSP के खिलाफ दया सिंह ने खोला मोर्चा: दिल्ली में इस्पात राज्यमंत्री को सौंपा शिकायतों का पुलिंदा, पढ़िए-पूरी खबर

BSP के खिलाफ दया सिंह ने खोला मोर्चा: दिल्ली में इस्पात राज्यमंत्री को सौंपा शिकायतों का पुलिंदा, पढ़िए-पूरी खबर

रमेश गुप्ता/ भिलाई। रमेश गुप्ता/ भिलाई। बोल बम सेवा एवं कल्याण समिति के अध्यक्ष व प्रदेश झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ के सदस्य दया सिंह इन दिनों दिल्ली दौरे पर है। इस दौरान वे भिलाई स्टील प्लांट एवं भिलाई शहर की समस्याओं को लेकर भी वे संबंधित विभाग के मंत्री व अधिकारियों से मेल-मुलाकात कर रहे हैं। दया सिंह ने केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते से मुलाकात की।

मुलाकात के दौरान दया सिंह ने एक शिकायतों का पुलिंदा भी सौंपा। इसमें बीएसपी प्रबंधन के खिलाफ शिकायतें थी। दया ने बीएसपी प्रबंधन के रवैय्ये को लेकर इस्पात राज्यमंत्री को पूरी जानकारी दी। इसके अलावा टाउनशिप, कैंप-खुर्सीपार में बीएसपी क्षेत्र के कई मुद्दों पर बात हुई। बीएसपी में लगातार हो रहे हादसे की जानकारी भी दया ने इस्पात राज्यमंत्री को दी है।

तमाम समस्याओं संबंधित दस्तावेज पढ़ने और सुनने के बाद केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री कुलस्ते ने कहा कि, वे इन तमाम विषयों को लेकर चर्चा करेंगे। समाधान की दिशा में सकारात्मक कदम उठाएंगे। दया को यह भी कहा कि वे बहुत जल्द भिलाई स्टील प्लांट का विजिट करने के लिए भिलाई आने वाले हैं। 

बढ़ सकती है बीएसपी की मुश्किलें...

बीएसपी प्रबंधन के उन जिम्मेदार अधिकारियों की मुश्किलें बढ़ सकती है जो लगातार रडार में है। उनके डिपार्टमेंट से संबंधित लगातार इश्यूज आ रहे हैं, ऐसे लोगों की सूची की जानकारी भी दी गई है। वो चाहे पेयजल से संबंधित विभाग का जिम्मा देख रहे हों या पर्सनल या फिर सिक्योरिटी का। मेंटेनेंस के ढिले-ढाले रवैय्ये की जानकारी भी दया ने केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री को दिया है। 

इन विषयों को लेकर दया सिंह ने की केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री से मुलाकात...

- भिलाई स्टील प्लांट सेल की अग्रणी यूनिट में से एक है। जहां हजारों कर्मचारी काम करते हैं। उनके लिए टाउनशिप है। जहां कई तरह की समस्याएं हैं। वहीं बीएसपी कर्मियों की समस्याएं लगातार पेंडिंग है। जिसका समाधान बाकी है। 

- भिलाई स्टील प्लांट कारखाना में लगातार हादसे हो रहे हैं। प्लांट के अंदर कई यूनिट्स काफी पुरानी है। उसका मेंटेनेंस किया जाए। नवंबर के इसी सप्ताह में दो हादसे हो गए। इसमें एक कर्मी की मौत हो गई। जबकि 6 कर्मी झुलस गए हैं। इस मामले में दोषियों पर कार्रवाई और प्लांट के अंदर पुरानी मशीनों का मरम्मत व नए मशीन लगाने का कार्य किया जाए। 

- टाउनशिप में रहने वाले बीएसपी कर्मियों के क्वार्टर जर्जर हो चुके हैं। कई सेक्टरों में क्वार्टर्स का मेंटेनेंस नहीं हो रहा है। ऐसे में कर्मियों की जान आफत में आ गई है। बीएसपी प्रबंधन ने मेंटेनेंस कार्य एकदम बंद कर दिया है। इससे समस्याएं बढ़ गई है। बीएसपी प्रबंधन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। 

- बीएसपी कर्मियों के कई वेतन विसंगती से जुड़े विषय है। जिसका समाधान नहीं हुआ है। बीएसपी के अधिकारियों का वेज रिवीजन का समाधान भी नहीं हुआ है। जो हुआ है, उससे उन्हें नुकसान हो रहा है। ऐसे में बीएसपी अधिकारियों के प्रति इस्पात मंत्रालय का ध्यानाकर्षण कराना चाहूंगा। 

- खुर्सीपार और कैंप क्षेत्र में बीएसपी के क्वार्टर है। वहां के लोगों को सरकार की योजनाओं का लाभ वैसे नहीं मिल पाता, जैसी कि अन्य इलाके के लोगों को मिलती है। 

- भिलाई स्टील प्लांट का सेक्टर-9 अस्पताल है। जहां लगातार स्टाफ व डॉक्टर्स की कमी बरकरार है। अब सेक्टर-9 अस्पताल सिर्फ रेफरल सेंटर बन गया है। ऐसे में अस्पताल की सुविधाओं को बढ़ाया जाए। 

- भिलाई टाउनशिप के स्कूल लगातार बंद हो रहे हैं। किसी समय में शिक्षा व्यवस्था में बीएसपी नंबर-1 होता था। अब स्कूल लगातार बंद हो रहे हैं। ऐसे में शिक्षा सुविधाओं को बढ़ाने की आवश्यकता है।