breaking news New

लेम्प्स कर्मचारियों की हड़ताल से हजारों किसान परेशान

लेम्प्स कर्मचारियों की हड़ताल से हजारों किसान परेशान

आज आठवें दिन,मांग पूरी नही होने पर आंदोलन आगे भी जारी रहेगा



भानुप्रतापपुर। वेतन सहित अपने लंबित मांगो को लेकर लैंपस प्रबंधक सहित सभी कर्मचारी,छ.ग.सहकारी समिति कर्मचारी संघ रायपुर के बैनर तले

24 जुलाई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। हड़ताल से सभी लैंपस कार्यालयों में ताला लगा हुआ है। वही हड़ताल के चलते हजारों किसान खाद की कमी से  परेशान हो रहे है। 

 भानुप्रतापपुर विकासखंड के लैंपस कार्यालय भानुप्रतापपुर, भानबेड़ा,हाटकोदल,कच्चे,संबलपुर,दमकसा, असुलखार, केवटी,दुर्गूकोंदल विकासखंड के लैंपस कार्यालय दुर्गूकोंदल, कोड़ेकुर्से, लोहत्तर, दमकसा, हाटकोंदल, कोदापाखा, चिखली में ताला लगा हुआ है। सहित समस्त लेम्प्स रहे बंद।

 प्रबंधक व संचालको की बैठक 

कांकेर एवं नारायणपुर जिले के अंतर्गत एक सौ से ज्यादा लेम्प्स प्रबंधक एवं संचालगण की बैठक कल 30 जुलाई को संबलपुर मंडी प्रांगण में बैठक हुई। बैठक का उद्देश्य आंदोलन की रूपरेखा एवं मांगो को लेकर रखी गई थी, जिसमे निर्णय लिया गया कि जब तक मांग पूरी नही होगी तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

विदित हो कि प्रदेश के 2058 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के माध्यम से छ.ग.शासन की महत्वपूर्ण जनकल्याणकारी योजनाए जैसे समर्थन मुल्य धान खरीदी , सार्वजनिक वितरण प्रणाली , खाद , बीज , केसीसी ऋण वितरण आदि का सफल संचालन शत प्रतिशत किया जाता है ।भारत एक कृषि प्रधान देश है । सहकारिता के माध्यम से गांव गरीब किसानो की सेवा की जाती है । सहकारी समितियां सहकारिता की रीड की हड्डी एवं प्रथम सिढी है । जहां सहकारी समितियों में विगत 35-40 वर्षों से अल्प वेतन में पूर्ण निष्ठा लगन एवं ईमानदारी के साथ लगभग पूरे प्रदेश में 10000 हजार कर्मचारीगण सेवारत है किन्तु खेद एवं चिंतनीय विषय है कि आज भी प्रदेश के 2058 सहकारी समितियों के कर्मचारियों को सम्मान जनक वेतन तथा अन्य सुविधाओं से वंचित है । उक्त सभी कर्मचारियों की भविष्य पूर्णतः अंधकारमय है । जिससे पूरे छ.ग. कर्मचारी हतोशाहित व अपने भविष्य को लेकर काफी चिंतित है ।


           प्रमुख मांग 

1. धान परिहवन देरी से होने के कारण धान में आ रही सूखत एवं अतिरिक्त खर्चा की राशि समितियों को वापस दिलाई जावे। 

2. प्रदेश के 2058 सहकारी समितियों में कार्यरत कर्मचारियों को सातवें वेतन मान हेतु वेतन अनुदान पंजीयक महोदय के पत्र दिनांक 25.09.2018 व दिनांक 02 , 08.2019 माननीय श्री टी.एस.सिंहदेव जी स्वास्थ्य एवं पंचायत मंत्री की अनुसंशा अनुदान राशि प्रदाय की जावे शीघ्र लागू हो । व शासकीय कर्मचारी की भांति नियमित कर वेतनमान दिया जावे।

3 , प्रदेश के 2058 सहकारी समितियों में कार्यरत कर्मचारियों को सेवानियम 2018 के अनुसार प्रबंधक की भर्ती 50 प्रतिशत स्थान पर 100 प्रतिशत समिति के संस्था प्रबंधकों को केडर प्रबंधक पद पर संविलियन करते हुए बैंक के अन्य रिक्त पदों पर समिति के अन्य कर्मचारियों को 100 प्रतिशत संविलियन के माध्यम से किया जावे । योग्यता तथा उम्र बंधन को शिथिलता दिया जावे । तथा प्रदेश के जिला सहकारी केन्द्रीय बैंकों में प्लेसमेंट भर्ती पर रोक लगाई जावे । 

4. सहकारी समिति सेवानियम 2018 में आंशिक संशोधन हेतु संघ द्वारा दिनांक 03 . 10.2019 को प्रेषित मांग पत्र में कार्यालय माननीय मुख्य मंत्री निवास दिनांक 11.11.2019 एवं माननीय सहकारिता मंत्री के पत्र दिनांक 03.10.2019 पर अनुसंशित टीप को तत्काल लागू किया जावे ।

 5. खरीफ विपणन वर्ष आगामी 2021-22 की धान खरीदी नीति में आवश्यक बिन्दुओं पर विपणन संघ बैंक एवं समिति और संघ के बीच में कमेटी गठित कर धान खरीदी नीति में आवश्यक संशोधन किया जावे। यदि उपरोक्त मांगो पर सकरात्मक पहल नही किया जाता है तो आंदोलन आगे भी जारी रहेगा।