breaking news New

आइए जानते हैं,वाराणसी का कौन शख्स है ? जिसे लगा 100 करोड़वां कोरोना टीका

आइए जानते हैं,वाराणसी का कौन शख्स है ? जिसे लगा 100 करोड़वां कोरोना टीका

 नईदिल्ली।  देश की राजधानी  दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कोरोना का 100 करोड़वां लगा . वाराणसी के रहने वाले दिव्यांग अरुण राय यह टीका  लगाया गया।   हालांकि, अरुण को इस बात का अफसोस है कि वे पीएम मोदी के साथ सेल्फी नहीं ले पाए.

कोरोना के खिलाफ जंग में देश ने नया मुकाम हासिल किया है. गुरुवार को देश ने 100 करोड़ वैक्सीन के आंकडे़ को पार लिया. खास बात ये है कि जिस शख्स को कोरोना का 100 करोड़वां टीका लगा, वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी का रहने वाला है. 

प्रधानमंत्री ने नर्सिंग ऑफिसर क्रिस्टीन के वैक्सीनेशन में ट्रैक रिकॉर्ड पर आश्चर्य व्यक्त किया. क्रिस्टीन ने बताया कि जब मैंने पीएम मोदी को बताया कि मैंने हर रोज 15 हजार से अधिक टीके लगाए हैं, पीएम को आश्चर्य हुआ. उन्होंने मेरी पीठ थपथपाई और फिर मेरी और मेरे सभी सहयोगियों की सराहना की. इसके बाद पीएम मोदी ने गृह राज्य, मेरे करियर और परिवार के बारे में पूछा. प्रधानमंत्री से बात करना और उन्हें हमारी सराहना करते देखना बहुत अच्छा लगा.

इसके बाद अरुण राय ने राम मनोहर लोहिया अस्पताल में रजिस्ट्रेशन करवा लिया. बाद में जब उन्होंने 100 करोड़वां टीका लगवाया तो पीएम मोदी ने उनसे मुलाकात की. पीएम मोदी ने उसने पूछा कि उन्होंने अभी तक वैक्सीन क्यों नहीं लगवाई. इस पर अरुण रॉय ने बताया कि उन्हें वैक्सीन को लेकर भ्रम था. लेकिन जब देश के 70 करोड़ लोगों को वैक्सीन का टीका लगा, तो उन्होंने भी वैक्सीन लगवाने का फैसला किया.

पीएम मोदी ने वैक्सीन का 100 करोड़वां डोज लगने के बाद राम मनोहर लोहिया अस्पताल में अतुल राय के अलावा नर्सिंग ऑफिसर और सिक्योरिटी गार्ड से भी बात की. पीएम मोदी ने हॉस्पिटल में तैनात गार्ड रमेश की पीठ थपथपाई और उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की. इस पर रमेश ने कहा, जब पीएम मोदी ने मुझसे बात की, मैं आश्चर्यचकित हो गया.