breaking news New

अजीबोगरीब : एक दिन में एक मरीज की दो बार मौत..परिजन अंतिम संस्कार करने पहुंच गए थे तभी अस्पताल ने बताया कि मरीज जिंदा है..! जानिए क्या थे कारण!

अजीबोगरीब : एक दिन में एक मरीज की दो बार मौत..परिजन अंतिम संस्कार करने पहुंच गए थे तभी अस्पताल ने बताया कि मरीज जिंदा है..! जानिए क्या थे कारण!

भोपाल. कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा हर दिन बढ़ता ही जा रहा है। मध्य प्रदेश में भी कोरोना के कारण बुरे हालात हैं लेकिन यहां के विदिशा शहर से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है।

दरअसल विदिशा में एक कोरोना मरीज को एक दिन में दो बार मृत घोषित किया गया। पहली बार उस मरीज को स्टॉफ की गलती के कारण मृत घोषित किया गया। इतना ही नहीं, अस्पताल प्रशासन ने मरीज के परिजनों को डेथ सर्टिफीकेट भी जारी कर दिया, जिसके बाद मरीज के परिवार के सदस्य श्मशान में अंतिम संस्कार का प्रबंधन करने के लिए चले गए लेकिन थोड़ी देर बाद उन्हें सुचित किया गया कि उनका मरीज अभी जिंदा है और वेंटिलेटर पर है। हालांकि बाद में मरीज के मौत गुरुवार को शाम 6 बजे के करीब हुई।

जिस मरीज की मौत हुई, उनकी उम्र 58 साल की थी, वो विदिशा के सुल्तानिया गांव के रहने वाले थे। उन्हें 12 अप्रैल को गर्दन की बीमारी की वजह से अटल बिहार वाजपेयी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया था। मृतक के परिजनों ने स्थानीय मीडिया को बताया कि जब उन्होंने अपने मरीज को भर्ती करवाया था, तब वो कोविड पॉजिटिव नहीं थे लेकिन उनकी मौत से थोड़ा पहले ही उन्हें सूचित किया गया कि उनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है।

अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि भ्रम इसलिए हुआ क्योंकि मरीज की धड़कन गायब हो गई थी, जिसकी वजह से नर्स ने सोचा की उनकी मौत हो गई है। डॉक्टरों ने उसे बचाने की आखिरी कोशिश में सीपीआर दिया और एक-एक घंटे बाद उनकी धड़कनें तेज हो गईं। एमपी में एक दिन में कोविड-19 के सर्वाधिक 11,045 मामले आए और 60 लोगों की मौत हुई है.