breaking news New

दिल में बसा लो आने वाले साल को

दिल में बसा लो आने वाले साल को

सुजाता साहा 

साल 2021 की शुरुआत हो गई है. नया साल जीवन में नई खुशियां लेकर आए, इस वजह से लोग तरह-तरह के उपाय करते हैं. मंगलकामनाओं के साथ नए संकल्प लेते हैं. अगर आप मौजूदा वर्ष की चुनौतियों, संघर्षों और अशुभताओं को नए साल में नहीं लेकर जाना चाहते।

2020 को सबसे ज्यादा नकारात्मक कोरोना वायरस की वजह से माना जाता है, कई लोगों का कहना है कि ये पूरा साल ही कोरोना की वजह से खराब हो गया। इसलिए अब लोगों को 2021 से बहुत उम्मीदें है। 2021 का खास इंतजार इसलिए भी है कि नए साल में लोगों को कोरोना वैक्सान के नाम को तोहफा भी मिल सकता है। असल में ऐसी उम्मीद है कि भारत में नए साल की शुरुआत के साथ ही भारतीयों को कोविड-19 वैक्सीन दी जा सकती है।

राजधानी दिल्ली में कोरोना को देखते हुए पहले ही नए साल के जश्न को लेकर गाइडलाइन्स जारी कर दी हैं। नए साल की पूर्व संध्या पर ट्रैफिक पुलिस और स्थानीय पुलिस सड़कों पर मुस्तैद रहेगी।

नए साल का जश्न कई देशों में अलग-अलग वक्त पर मनाया गया. सबसे पहले आर्कटिक देश टोंगा में 2021 दस्तक दिया. हालांकि, मुख्य रूप से न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया ऐसे देश हैं जहां भारतीय समयानुसार जल्दी नया साल आ गया। भारत के वक्त के अनुसार, गुरुवार दोपहर 3.30 बजे यहां नया साल आ गया। 

भारत में नए साल को देखते हुए काफी सतर्कता बरती जा रही है. नए साल से ठीक पहले कोरोना का नया स्ट्रेन भारत में आया है, ऐसे में कई राज्यों ने अपने यहां नाइट कर्फ्यू लगा दिया है. नई दिल्ली, ओडिशा, महाराष्ट्र, गुजरात समेत कई राज्यों ने अपने यहां पूर्ण या आंशिक रूप से नाइट कर्फ्यू लगाया है. 

रात 11 बजे के बाद बाहर निकलने पर मनाही है, भीड़ में ना जाने की सलाह है और साथ ही ड्राइविंग करने वालों को ब्लड टेस्ट करवाना पड़ सकता है. ऐसे में कोरोना से जुड़ी गाइडलाइन्स का पालन करते हुए ही लोग नया साल मनाएं, ताकि कोई दिक्कत ना हो.

साल का पहला दिन अगर लोग उत्साहित होकर खुशी-खुशी मनाएंगे तो पूरा साल खुशनुमा बीतेगा। इस दिन जहां कुछ लोग मंदिर और घर में पूजा-पाठ व हवन का आयोजन करते हैं। वहीं, कई लोग शाम होते ही पार्टी करने लगते हैं। नाच-गाना और स्वादिष्ट व्यंजनों के साथ-साथ मजेदार खेलों के माध्यम से खुद को और बाकियों को एंटरटेन करते हैं।

नया साल खुद में नई सोच- उम्मीद विकसित करने का और ऊर्जा संचय का समय होता है। पिछली असफलताओं, पुरानी परेशानियों से सबक लेते हुए पूरी सावधानी से नया कदम उठाने की देर है।

भूल जाओ बीते हुए कल को

दिल में बसा लो आने वाले कल को

मुस्कुराओ चाहे जो भी हो पल

खुशियां लेकर आएगा आने वाला कल।।