breaking news New

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवम्बर से 23 दिसम्बर तक, इन मुद्दों पर विपक्ष कर सकता है घेराबंदी

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवम्बर से 23 दिसम्बर तक, इन मुद्दों पर विपक्ष कर सकता है घेराबंदी

नई दिल्ली। संसद का शीतकालीन सत्र आगामी 29 नवम्बर से 23 दिसम्बर तक कोविड प्रोटोकाल के साथ होगा। कोविड महामारी के चलते पिछले वर्ष संसद का शीतकालीन सत्र नहीं हो सका था लेकिन इस बार इसका आयोजन कोविड प्रोटोकाल के तहत किया जायेगा। इस दौरान दोनों सदनों की करीब 20 बैठकें होंगी।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता वाली राजनीतिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने शीतकालीन सत्र 29 नवम्बर से 23 दिसम्बर तक बुलाने की सिफारिश की है।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से पहले होने वाले इस सत्र के हंगामेदार होने की संभावना जतायी जा रही है क्योंकि सरकार के खिलाफ लामबंद विपक्ष महंगाई , किसान आंदोलन, लखीमपुर मामले, पेगासस जासूसी मामले और अन्य मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश करेगा।