breaking news New

भूपेश सरकार ने COVID 19 में धैर्य का परिचय देते हुए अपने नागरिकों की सुरक्षा के प्रबंध में कोई कसर नहीं छोड़ी - अहसन मेमन

भूपेश सरकार ने COVID 19 में धैर्य का परिचय देते हुए अपने नागरिकों की सुरक्षा के प्रबंध में कोई कसर नहीं छोड़ी - अहसन मेमन

गरियाबंद, 6 जून। एनएसयूआई ने युवा नेता अहसन मेमन ने कहा 21 वीं सदी का सबसे भयावह समय, चीन से निकला कोविड वायरस का दुनिया में पैर पसारना..पहला केस दिल्ली में..छत्तीसगढ़ में कोविड को लेकर हमारे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी की सरकार चौकन्नी हो चुकी थी, श्री राहुल गांधी जी ने जो चेतावनी दी थी उसे भले ही केंद्र की मोदी सरकार ने अनसुना कर दिया हो लेकिन भूपेश बघेल जी तुरंत हरकत में आ गए थे। वायरस के बारे में सब अनजान थे लेकिन पूरी सावधानी से सरकार ने अपनी तैयारी शुरू कर दी थी।

सरकारी  अस्पतालों को इस महामारी से लड़ने के लिए सारी सुविधाओं से सुसज्जित करने का काम युद्धस्तर पर होने लगा। शुरुवाती दौर में संक्रमण शहरी क्षेत्रों में पैर पसारने लगा,लोगों में डर का माहौल भी बनने लगा जो कि दुनिया भर से आ रही खबरों के कारण वाजिब था।लेकिन इस समय भी भूपेश सरकार ने धैर्य का परिचय देते हुए अपने नागरिकों की सुरक्षा के प्रबंध में कोई कसर नहीं छोड़ी। हवाई अड्डों और अन्य परिवहन के साधनों पर कड़ी नजर रखी जाने लगी जिससे संक्रमण बहुत तेज़ी से नहीं फैला। दवाएं व चिकित्सा सुविधाएँ बढाने पर ज़ोर दिया जाने लगा और इससे बचाव के तरीकों को प्रत्येक नागरिक तक प्रसार किया जाने लगा। इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन का निर्णय लेना पड़ा जो पूरे प्रदेश की रफ्तार थम गई,जन-जीवन थम गया। उद्योग  व व्यापार बन्द हो गए जिससे मध्यम व कमज़ोर आर्थिक वर्ग पर जीवन यापन की कठिनाई सामने आ गई।ऐसे आंय में भूपेश सरकार ने रोज़गार और जरूरतमंदों तक आवश्यक सामग्री पंहुचाने का काम बखूबी किया। प्रदेश के लोग जो कमाने-खाने बाहर गए हुए थे उन्हें वापस बुलाया और उनकी भी पूरी देखभाल की। पूरा सरकारी अमला,अधिकारी,डॉक्टर्स और स्वास्थ्यकर्मियों और पुलिस ने अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया व सरकारी निर्देशों का शब्दशः पालन किया चाहे वो पहली लहर रही हो या दूसरी। मेमन ने कहा बघेल सरकार ने  कठिन समय में अपनी प्रतिबद्धता और कर्मठता के कारण आज छत्तीसगढ़ में इस महामारी के संक्रमण को बहुत कम कर दिया है और अब प्रदेशवासियों को पूरी आशा है कि जल्दी ही वे इससे जंग जीत लेंगे।

भूपेश बघेल जी जैसे संवेदनशील मुखिया ही ओस कठिन समय में प्रदेश की सुरक्षा कर सकते हैं। मेमन ने पूरे प्रदेश की ओर उन्हें कोटि-कोटि धन्यवाद दिया ।