breaking news New

कोण्डागांव : वित्तीय अनियमितता एवं कार्य के प्रति उदासीनता के लिए दो अधिकारियों के विरूद्ध हुई कार्यवाही

कोण्डागांव : वित्तीय अनियमितता एवं कार्य के प्रति उदासीनता के लिए दो अधिकारियों के विरूद्ध हुई कार्यवाही

कोण्डागांव। कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा द्वारा जिले के दो अधिकारियों के विरूद्ध वित्तीय अनियमितता एवं कार्य के प्रति उदासीनता के कारण आयुक्त बस्तर संभाग रजत बंसल को पत्र द्वारा निलंबन की कार्यवाही हेतु प्रस्ताव भेजा गया। 

ज्ञात हो कि प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत फरसगांव रमेश कुमार ओट्टी के विरूद्ध शासकीय योजना की राशि में वित्तीय अनियमितता के संबंध में शिकायत प्राप्त हुई थी। 

शिकायत की जांच जिला कोषालय अधिकारी द्वारा किये जाने के उपरान्त जांच प्रतिवदेन में  रमेश कुमार ओट्टी द्वारा बीआरजीएफ मद में प्राप्त राशि 24 लाख 10 हजार रूपये को आहरित कर व्यक्तिगत बैंक खाते में अंतरण पाया गया। जिसके तहत् उन्हें स्वहित में राशि के आहरण एवं उपयोग सिद्ध हुआ। इस प्रकार वित्तीय अनियमितता बरते जाने के लिए  ओट्टी को निलंबित किये जाने का प्रस्ताव भेजा गया।

    इसके अतिरिक्त जिले में जिला रोजगार अधिकारी के रूप में पदस्थ पवन कुमार नेताम के द्वारा विभागीय बैठकों में अनुपस्थिति, विभागीय कार्यों के संबंध में जानकारी न उपलब्ध कराने, पूर्व सूचना एवं अनुमति के बगैर कर्तव्य में अनुपस्थित रहने, मौखिक निर्देशों के अनुपालन में लापरवाही एवं कार्यप्रणाली में गंभीरता न बरतते हुए, अनुपस्थित रहने के कारण  नेताम के विरूद्ध कार्यालयीन कार्य में उदासीनता के लिए निलंबन हेतु प्रस्ताव भेजा गया है।

    उक्त अधिकारियों के विरूद्ध निलंबन के प्रस्ताव पर आयुक्त बस्तर संभाग की स्वीकृति उपरांत कार्यालय द्वारा निलंबन की कार्यवाही की जावेगी।