breaking news New

यूरोपीयन स्टाइल से दिल्ली के सडक़ों का होगा सौंदर्यीकरण

यूरोपीयन स्टाइल से दिल्ली के सडक़ों का होगा सौंदर्यीकरण

नई दिल्ली । राजधानी दिल्ली की केजरीवाल सरकार दिल्ली सरकार के अधीन सडक़ों का यूरोपियन स्टाइल से सडक़ों का सौंदर्यीकरण किया जा रहा है।

बुधवार को उपमुख्यमंत्री व पीडब्ल्यूडी मंत्री मनीष सिसोदिया ने पायलट फेज में चल रहे मोती बाग से नारायणा के बीच सडक़ों के सौंदर्यीकरण कार्य का पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों के साथ जायजा लिया व अधिकारयों को निर्माण कार्यों को तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा उद्देश्य दिल्ली सरकार के अधीन सभी सडक़ों को शानदार बनाना है, हमें अपने सडक़ों को नई पहचान देनी है और इन्हें सुंदर बनाना है ताकि लोगों को इनपर चलने-घुमने का सुखद अनुभव मिल सके7 इन सडक़ों पर लोगों के लिए बहुत सी सुविधाएं मौजूद होंगी7 लोगों के बैठने के लिए ओपन स्पॉट्स होंगे व पूरे स्ट्रेच को हरा-भरा बनाने के लिए पेड़-पौधे लगाए जाएंगे !

उन्होंने कहा कि दिल्ली के सडक़ों का सौंदर्यीकरण कर हम इन्हें यूरोपियन स्टाइल का बनाना चाहते है ताकि ये दिल्ली को एक नई पहचान दे सके। सिसोदिया ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के नेतृत्त्व में स्ट्रीट स्केपिंग के इस महत्वकांक्षी परियोजना के तहत पीडब्ल्यूडी द्वारा अभी पायलट फेज में दिल्ली के 16 सडक़ों का वहां की जरूरतों के अनुसार सौंदर्यीकरण किया जा रहा है व इनके पूरा होने के पश्चात दिल्ली के 540 किमी. रोड स्ट्रेच का भी इसी के तर्ज पर सौंदर्यीकरण किया जाएगा। राजधानी में दिल्ली सरकार के अधीन लगभग 1300 किलोमीटर की सडक़ें है बाकि अन्य सडक़ें एमसीडी व डीडीए के अधीन है।

सडक़ों के किनारे फूटपाथ पर लगाई जाएँगी रंग-बिरंगी टाइलें, लोगों की आवाजाही बनेगी सुविधाजनक 

- पेड़-पौधे लगाकर ग्रीन एरिया किया जाएगा विकसित

- लोगों के बैठे के लिए तैयार किए जाएंगे शानदार ओपन सिटिंग एरिया 

- साइकिल के तैयार किया जाएगा अलग लेन 

- जगह-जगह विकसित किए जाएंगे सेल्फी व फोटोग्राफी पॉइंट्स 

- डिज़ाइनर एलईडी लाइटों से रात को जगमगायेंगी सडक़ें 

- लोगों की सुविधा के लिए बनाए जाएंगे जन-सुविधा केंद्र  

- फव्वारे व सैंड स्टोन आर्टवर्क से बढ़ेगी सडक़ों की खूबसूरती