breaking news New

गोद ग्राम के ग्रामीणों ने बीएसपी प्रबंधन के खिलाफ भरी हुंकार, बीएसपी प्रबंधन पर अनदेखी का आरोप

गोद ग्राम के ग्रामीणों ने बीएसपी प्रबंधन  के खिलाफ भरी हुंकार, बीएसपी प्रबंधन पर अनदेखी का आरोप

 स्थानीय ग्रामीणों की उपेक्षा होने पर बीएसपी प्रबंधन के खिलाफ ग्रामीण  आक्रोषित है। गोद ग्राम में मूलभुत सुविधाओं सहित 20 मांगों को लेकर कलेक्टर को ज्ञापन सौपा है। खनन शुरू होने के पूर्व मांगे पूरी करने की चेतावनी

नारायणपुर। कांकेर एंव नारायणपुर जिले के अंतर्गत रावघाट माइनिंग एरिया के ग्रामों को बीएसपी ने गोद लिया था। इन गोद ग्राम में निवासरत ग्रामीणों को सभी मूलभुत सुविधाए प्रदान करने का आश्वासन बीएसपी प्रबंधन ने दिया था। लेकिन सालों बितने के बावजूद बीएसपी प्रबंधन ने अपने आध्यावन पर खरा उतरने के लिए कोई रूचि नहंी दिखाई। इन गोद ग्रामों को मूलभुत सुविधाए प्रदान करने की बजाय बीएसपी प्रबंधन माइनिंग एरिया में खनन कार्य शुरू करने की पूरी तैयारियों कर ली है। इस बात को संज्ञान में लेकर बीएसपी गोद के ग्रामीण प्रबंधन के खिलाफ आक्रोशित हो गए है।

इससे नारायणपुर एंव कांकेर जिले के अंतर्गत बीएसपी गोद ग्राम के ग्रामीणों ने ग्रामीणों ने बुधवार को तेसली मोड के पास एकत्रित होकर बीएसपी प्रबंधन के खिलाफ हंुकार भरते हुए अपनी 20 मांगों को लेकर कलेक्टर को ज्ञापन सौपा है। इसमें गोद ग्राम के ग्रामीणों ने  खनन शुरू करने के पूर्व इन मांगों को पूरा करने की चेतवानी दी है। इसके बावजूद मांग पूरी नहीं करने पर गोद ग्राम के ग्रामीणों को बीएसपी प्रबंधन के खिलाफ बड़ा आंदोलन करने का दावा कर दिया है।

जानकारी के अनुसार बीएसपी रावघाट परियोजना का माईनिंग एरिया कांकेर एंव नारायणपुर जिले के कुल 22 गांव अंतर्गत आता है। इस एरिया को संज्ञान मे ंलेकर बीएसपी कांकेर एंव नारायणपुर जिले के 22 ग्रामों को गोद लिया था। इन गांवो को गोद लेने के बाद बीएसपी ने पानी, शिक्षा, बिंजली, सड़क, पुल-पुलिया, स्वास्थ्य, रोजगार जैसी सभी मूलभुत सुविधाएं इन गोद ग्राम में पूरा करने का वादा किया था। लेकिन सालों बितने के बावजूद बीएसपी प्रबंधन ने गोद ग्रामों में मूलभुत सुविधाए प्रदान करने में कोई रूचि नहीं दिखाई। इन गोद ग्रामों की उपेक्षा कर इन गांवों में झांकने तक की फुर्सत बीएसपी प्रबंधन नहीं निकाल पाया है।

इससे सालों बितने के बावजूद गोद ग्राम ग्रामीणों को बीएसपी प्रबंधन की अनदेखी का सामना कर मूलभुत सुविधाओं के अभाव में जीवन यापन करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। इन गोद ग्राम की अनदेखी करते हुए बीएसपी प्रबंधन अंजरेली पहाडी की ओर रावघाट परियोजना के माइनिंग एरिया से खनन शुरू करने की तैयारियां बीएसपी प्रबंधन ने पूरी कर ली है।

इसमें बीएसपी प्रबंधन ने नए साल में खनन करने के लिए पूरी कमर कस ली है। इसकी भनक बीएसपी गोद ग्रामीणों को लग गई। इससे बीएसपी प्रबंधन द्वारा गोद ग्राम की अनदेखी कर खनन कार्य शुरू करने की बात को संज्ञान में लेकर गोद ग्राम के ग्रामीण बीएसपी प्रबंधन के खिलाफ आक्रोषित हो गए है। इससे 22 गोद ग्राम के ग्रामीणों ने रावघाट संघर्ष समिति के बैनर तले बीएसपी प्रबंधन की अनदेखी का विरोध करना शुरू कर दिया है। इसमें कांकेर एंव नारायणपुर जिले के 22 गोद ग्राम के ग्रामीणों ने बुधवार को तेलसी मोड के पास एकत्रित होकर बीएसपी प्रबंधन के खिलाफ हुंकार भर दी है।

इसमें रावघाट संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने अपनी 20 मांग को पूरा करने के लिए कलेक्टर अभिजीत सिंह के नाम ज्ञापन सौपा है। इसमें रावघाट परियोजना के माईनिंग एरिया में खनन कार्य शुरू करने के पूर्व इन सभी मांगों को पूरा करने की चेतावनी गोद ग्राम के ग्रामीणों ने दी है। इसके बावजूद बीसपी प्रबंधन द्वारा इन मांगों पर अनदेखी करने पर गोद ग्राम के ग्रामीणों ने सड़क में उतरकर बड़ा आंदोलन करने के लिए तैयार होने की बात कही है।