breaking news New

BJP विधायक को 28 साल पुराने केस में हुई 5 साल की जेल: पढ़िए- क्या है पूरा मामला

BJP विधायक को 28 साल पुराने केस में हुई 5 साल की जेल: पढ़िए- क्या है पूरा मामला

उत्तरप्रदेश। प्रदेश के भारतीय जनता पार्टी के गोसाईगंज विधानसभा से विधायक इंद्र प्रताप तिवारी को फर्जी मार्कशीट बनाकर कॉलेज में एडमिशन लेने के 28 साल पुराने मामले में 5 साल की सजा हुई है। 

जानकारी के अनुसार बीजेपी विधायक इंद्र प्रताप तिवारी पर ये केस 1990 में फर्जी मार्कशीट के जरिए साकेत महाविद्यालय में बीएससी सेकेंड ईयर में एडमिशन लेने का आरोप लगा था। जिस पर कार्यवाही करते हुए अपर जिला जज प्रथम पूजा सिंह ने 5 साल की सजा सुनाई है।

उनके साथ में तत्कालीन छात्रनेता फूलचंद यादव और चाणक्य परिषद के नेता कृपा निधान तिवारी को भी 5 साल की सजा सुनाई गई है। और 13-13 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया गया है। बता दें कि इस मामले के आरोपी बीजेपी विधायक इंद्र प्रताप तिवारी जमानत पर चल रहे थे।

ये है पूरा मामला....

साकेत महाविद्यालय के प्रिंसिपल यदुवंश राम त्रिपाठी ने 18 फरवरी 1992 को इंद्र प्रताप तिवारी, फूलचंद यादव और कृपा निधान तिवारी के खिलाफ रामजन्मभूमि थाने में FIR लिखवाई थी कि 1990 में बीएससी फर्स्ट ईयर की मार्कशीट में फर्जीवाड़ा करके बीएससी सेकेंड ईयर में प्रवेश लिया।

मामले में विवेचना के बाद सभी लोगों के खिलाफ 419, 420 समेत IPC की अन्य धाराओं में आरोप पत्र अदालत में प्रस्तुत किया गया। निचली अदालत ने 2018 में मामले को सेशन कोर्ट भेज दिया। लंबे चले मामले के दौरान प्रिंसिपल यदुवंश राम त्रिपाठी की मृत्यु हो गई। हालांकि मामला चलता रहा और कई दूसरे गवाह सामने आये। सोमवार 18 अक्टूबर को मामले में सुनवाई के बाद कोर्ट ने तीनों आरोपियों को दोषी पाया और पांच-पांच साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई। दोषियों पर 13-13 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया गया है। सुनवाई के समय तीनों आरोपी कोर्ट में मौजूद थे।