breaking news New

सड़क हादसों को लेकर छत्तीसगढ़ में नए ब्लैक स्पॉट का चिन्हांकन

सड़क हादसों को लेकर  छत्तीसगढ़ में नए ब्लैक स्पॉट का चिन्हांकन

रायपुर।  छत्तीसगढ़ में सड़क हादसों को लेकर  नए ब्लैक स्पॉट का चिन्हांकन किया जा रहा है। वहां की कमियों को दूर करने के लिए सूची तैयार की गई है।  इसके साथ ही पूर्व में चिन्हित ब्लैक स्पॉट में सुधार को भी प्रमुखता से करने को कहा था।  इसके बाद ही 2017 , 2018 और 2019 में हुई सड़क दुर्घटनाओं के आधार पर वर्ष 2020 के नए स्पॉट चिन्हित किए गए। 

 लगातार बढ़ रहे सड़क हादसे को लेकर ब्लैक स्पाट पर काम शुरू कर दिया गया है . रायपुर सहित प्रदेश में ऐसी जगहों का चिन्हांकन किया गया , जहां सड़क हादसे ज्यादा होते हैं . प्रदेशभर में ऐसी 130 जगहों का चिन्हांकन किया गया है . ये 130 ब्लैक स्पॉट नेशनल हाईवे , स्टेट हाईवे और अन्यमार्ग में हैं.पीएचक्यू नेपिछले तीनसालों में सड़क हादसों की रिपोर्ट के आधार पर ब्लैक स्पॉट तय किए हैं . 130 स्पॉट में स्पॉट रायपुर के हैं . वहीं , सबसे ज्यादाब्लैक स्पॉट राजनांदगांव में मिले हैं . यहां 15 जगहों का चिन्हांकन हआ पीएचक्य ने 2017 से लेकर अब तक सड़क हादसा के आधार पर यह रिपोर्ट तैयार की है।

सड़क सुरक्षा के लिए बनी लीड एजेंसी के अध्यक्ष और एआईजी ट्रैफिक संजय शर्मा ने बताया कि हादसों के पाईट के आधा किमी क्षेत्र को पॉइंटबनायागया है.लगातार और बार - बार सड़क हादसों वाली जगहों  को  ब्लैक स्पॉट में शामिल किया गया है.इनस्पॉट में सड़क हादसों की वजहों कोदूरकर उन्हें सुरक्षित बनाने की कोशिश एजेंसी कर रही है.

रायपुर मे एनएच 53 मे टाटीबंद  चौक से सरोनाओवरब्जितक , पिट्र डाया से सेरीखेड़ी ओवरबिज तक जिंदल मोड , मंदिर हसौद बस स्टैंड चौक , आरंग में पारागांव तक 5 पॉइंट को ब्लैक स्पॉट माना गया है . इसी तरह एनएच 30 में मैटल पार्क से धनेली नाला तय , मनपुरी तिराहा और नवरा का बेमता गाय का विन्हांकन किया गया.स्टेट हाईवे में रायपुर में एक भी जगह का चिन्हांकन नहीं हुआ है.वहीं , अन्य मार्ग में उरला इलाके के व्यास तालाब के पास सिंघानिया चौक के इलाके को भी चुना गया है . यहां भी हादसे होते रहते है ,

राजनांदगाव में 15 और रायपुर में 9 जगहों के अलावा मुगेली में बड़ी संख्या में स्पॉट का चिन्हांकन हुआ है . मुंगेली में नेशनल हाईवे में 3 , स्टेट हाईवे में 6 और अन्य मार्ग में 3 पॉइंट है . इस तरह हर जगह चिन्हांकित किए गए है . नेशनल हाईवे की बात करें तो सरगुजा में 10 , कोरबा और कबीरधाम में 7-7 . रायगढ़ और बिलासपुर में 6-6 . महासमुद और धमतरी में 5-5 . दुर्म और कोरिया में 4-4 , बेमेतरा , बालोद , काकर में 3-3 , बलौदाबाजार , गरियाबंद सूरजपुर में 2-2 जशपुर , बस्तर और कोडागांव में 1-1 स्पॉट तय किए गए है .