breaking news New

हमने गरीब से गरीब व्यक्ति के बीच भी डेटा को सुलभ बनाया हैं : पीएम मोदी

हमने गरीब से गरीब व्यक्ति के बीच भी डेटा को सुलभ बनाया हैं : पीएम मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज इंडियन स्पेस एसोसिएशन का वर्चुअली उद्घाटन कार्यक्रम में पहुंचे। जहां इंडियन स्पेस एसोसिएशन का वर्चुअली उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि एअर इंडिया पर लिया गया फैसला हमारी प्रतिबद्धता और गंभीरता को दिखाता है। गरीबों के घरों, सड़कों और दूसरे इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट में सैटेलाइट से ट्रैकिंग हो या नाविक टेक्नोलॉजी हो ये गवर्नेंस को ट्रांसपेरेंट बनाने में मदद कर रही हैं।

उन्होंने कहा कि आज अगर भारत दुनिया की टॉप डिजिटल इकोनॉमी में आगे है तो इसकी वजह है कि हमने गरीब से गरीब व्यक्ति के बीच भी डेटा को सुलभ बनाया है। उन्होंने ने आगे बताया कि भारत को इनोवेशन का नया सेंटर बनाना है। उन्होंने कहा कि भारत उन गिने-चुने देशों में है, जिसके पास एन्ड टु एन्ड टेक्नोलॉजी है। हमने एफिशिएंसी को ब्रांड का अहम हिस्सा बनाया है। स्पेस एक्सप्लोरेशन की प्रोसेस हो या स्पेस की टेक्नोलॉजी हो, इसे हमें निरंतर एक्सप्लोर करना है। एक पार्टनर के तौर पर इंडस्ट्रीज को युवा इन्वेंटर को सपोर्ट कर रही है और करती रहेगी।

मोदी ने कहा कि डिजिटल पेमेंट के लिए सरकार ने सबसे पहले यूपीई बनाया। आज इस पर फिनटैक्स का विस्तार हो रहा है। ऐसे स्टार्टअप से प्राइवेट सेक्टर को बहुत मदद मिल रही है। ड्रोन्स को लेकर भी ऐसे ही प्लेटफॉर्म्स विकसित किए जा रहे हैं।

आपको बता दें कि इंडियन स्पेस एसोसिएशन के संस्थापक सदस्यों में लार्सन एंड टुब्रो, नेल्को (टाटा ग्रुप), वनवेब, भारती एयरटेल, मैपमायइंडिया, वालचंदनागर इंडस्ट्री, अनंत टेक्नॉलजी लिमिटेड शामिल हैं। इसके अन्य सदस्यों में गोदरेज, अजिस्टा-बीएसटी एरोस्पेस प्राइवेट लिमिटेड, BEL, सेंटम इलेक्ट्रानिक्स एंड मैक्सर इंडिया भी शामिल हैं।