breaking news New

पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या के विरोध में भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ताओ ने किया धरना प्रदर्शन

पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या के विरोध में भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ताओ ने किया धरना प्रदर्शन

 टीएमसी कार्यकर्ताओं के द्वारा  भाजपा कार्यालय व भाजपा कार्यकर्ताओं पर  हमले व लोकतंत्र की हत्या कभी बर्दाश्त नहीं करेगे --बृजमोहन देवांगन
नारायणपुर -भाजपा नेतृत्व के आवाह्न पर जिला नारायणपुर मे भी   भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्त्ताओ ने covid नियमो का पालन करते हुये अपने अपने घरो के सामने पश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ताओं द्वारा भाजपा कार्यालय व भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले और लोकतंत्र की हत्या के विरोध में धरना दिया,इस दौरान  धरने पर बैठे भाजपा जिलाध्यक्ष बृजमोहन देवांगन ने कहा की आज  जिला भाजपा नारायणपुर  के पदाधिकारी व कार्यकर्त्ताओ द्वारा  covid नियम का पालन करते हुये अपने अपने घरो के सामने  पश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ताओं के द्वारा भाजपा कार्यालय व भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला व लोकतंत्र की हत्या के विरोध में धरना दिये,इस दौरान उन्होने कहा की पश्चिम बंगाल में अराजकता व  भय का माहौल निर्मित हो चुका है

टीएमसी के कार्यकर्ता चुनाव के नतीजों के बाद से ही भाजपा कार्यालय व भाजपा कार्यकर्ताओं के ऊपर लगातार प्राणघातक हमले किए जा रहे हैं जिससे भारतीय जनता पार्टी के नौ  कार्यकर्ता अपनी जान गवा चुके हैं साथ ही  लुटपाट की  घटना घटित हो रही है और  राज्य की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी हाथ मे हाथ धरकर बैठी हुई इससे साफ जाहिर होता है की ये सब घटनाएँ उन्ही के संरक्षण मे हो रही है हम सभी कार्यकर्ता लोकतांत्रिक तरीके से इनका पुरजोर विरोध करते है भारतीय  जनता पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता  दोपहर 2:00 बजे से लेकर 5:00 बजे तक अपने अपने निवास के बाहर  धरना प्रदर्शन कर है इस अवसर पर भाजपा नेता  गौतम गोलछा,रतन दुबे, संजय नंदी, संदीप झा, जैकी कश्यप,रतन सलाम, अभिषेक बेनर्जी, सुदीप झा, प्रभूनाथ देवांगन, संतनाथ उसेंडी, प्रताप मंडावी, मरण शील,संजय तिवारी,मंगडू नूरेटी,आकाश ठाकुर,सचिन जैन,बिन्देश महावीर,संतोष साहू,प्रभूलाल दुग्गा,तेजप्रकाश अंगीरा,अनंत विश्वास,रमशीला नाग  रीता मंडल,केसर निषाद,प्रमिला  प्रधान,अनिता कुरेटी,पुष्पलता मांझी,फुलमत कौर,भगवती हलधर सहित अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्त्ता अपने अपने घरों के सामने धरने पर बैठे रहे,