breaking news New

लाकडाउन में सब्जी बेचने वालों की आर्थिक दशा जर्जर : सोशल डिस्टेसिंग के साथ शास्त्री बाजार के विक्रेताओं को सब्जी बेचने की छूट मिले

लाकडाउन में सब्जी बेचने वालों की आर्थिक दशा जर्जर :  सोशल डिस्टेसिंग के साथ शास्त्री बाजार के विक्रेताओं को सब्जी बेचने की छूट मिले

 रायपुर । कोरोना वायरस कोविड 19 महामारी के कारण राजधानी का प्रमुख सब्जी शास्त्री बाजार आर्थिक रूप से बुरी तरह जर्जर हुआ है वर्ष 2020 एवं वर्तमान वर्ष के डेढ़ माह के कार्यकाल में लगे सख्त लाकडाउन के कारण सैंकड़ों परिवारों की रोजी रोटी संकट में पड़ गई है उक्त जानकारी आरएनएस प्रतिनिधि से चर्चा के दौरान थोक सब्जी विक्रेता संघ के संरक्षक विष्णु साहू ने  देते हुए बताया कि जहां लाकडाउन के दौरान वर्तमान समय में 31 मई की अवधि के दौरान जिला कलेक्टर रायपुर द्वारा अन्य व्यापारियों को व्यापार, व्यवसाय करने की चंद घंटों की छूट दी गई है वैसी ही छूट शास्त्री बाजार के सब्जी विक्रेताओं को सोशल डिस्टेसिंग एवं कोरोना गाइड लाइन के अनुसार चंद घंटों की छूट सब्जी बेचने के लिए दी जाए। साहू ने जिला कलेक्टर से आग्रह किया है कि जिस तरह से उन्होंने कोरोना गाइड लाइन के अनुसार थोक बाजार डूमर तराई को लेनदेन के लिए छूट प्रदाय की है। वैसी छूट गरीब सब्जी विक्रेाताओं को मिलने से न केवल आर्थिक स्थिति में उनके सुधार होगा वरन दोनों समय भोजन की व्यवस्था भी परिजनों के लिए हो जाएगी। लाकडाउन के कारण सब्जी बेचने वालों का आर्थिक आधार खत्म हो गया है। खाली घरों में रहने के कारण मानसिक तनाव की वजह से परिवारों में झगड़े भी हो रहे हैं। जिला कलेक्टर की अनुमति मिलने से सब्जी बेचने का काम जहां विक्रेता शुरू करेंगे। वहीं उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा।