breaking news New

26 मई से कोविशील्ड की दूसरी खुराक : 45 वर्ष से ज़्यादा आयु के पात्र लोगों को दूसरी डोज़ लगाई जाएगी

 26 मई से कोविशील्ड की दूसरी खुराक : 45 वर्ष से ज़्यादा आयु के पात्र लोगों को दूसरी डोज़ लगाई जाएगी

कोरोना दोनों डोज के बाद भी सावधानी जरूरी : कलेक्टर सिंह
महासमुंद ।   महासमुंद जि़ले में कोविशील्ड की दूसरी खुराक (टीका)  बुधवार 26 मई से लगना शुरू होगा। 45 वर्ष से ज़्यादा आयु के पात्र लोगों का दूसरी डोज़ लगाई जाएगी । 45 वर्ष से अधिक आयु के पात्र लोगों जिन्हें पहली डोज़ लगे 84 दिन हो गए है उन्हें कोविशील्ड की दूसरा टीका लगाया जाएगा ।  इससे पहले आने वालों को दूसरी खुराक नहीं लगाई जाएगी। कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने बताया कि 45 वर्ष से अधिक आयु के पात्र लोगों के दूसरी डोज़ लगाने के लिए कोविशील्ड उपलब्ध है। उक्त उम्र से ज़्यादा व्यक्ति जिन्हें प्रथम टीका लगने के बाद 84 दिन पूरे हो गए है। ऐसे पात्र लोग 26 मई से कोविशील्ड वैक्सीन निर्धारित टीकाकरण केंद्रो में जाकऱ लगवा सकते है। कलेक्टर श्री सिंह ने यह आग्रह किया कि कोरोना टीका का दोनों डोज ले लेने के बाद भी सावधानी जरूरी है। ऐसा नहीं कि किसी ने कोरोना का टीका ले लिया तो वे पूरी तरह से सुरक्षित हो गए। कोविड गाइड लाइन का पालन करना, मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग रखना बहुत ज़रूरी है।
टीकाकरण अधिकारी डॉ.अरविंद गुप्ता ने जानकारी दी कि सरकार द्वारा कोविशिल्ड वैक्सीन लगाने वालों के लिए नई गाइड लाइन जारी की गई है। जिसके तहत टीके का पहला डोज लेने वालों के लिए दूसरे डोज का अंतराल बढ़ा दिया गया है। नई गाइड लाइन्स के अनुसार टीके के दोनों डोज की बीच की अवधि बढ़ाई गई है। इसके लिए सरकार के निर्देशानुसार पहले डोज के 84 से 112 दिन (12 से 16 सप्ताह) के बीच दूसरा डोज दिया जाएगा। यदि व्यक्ति को कोविड टीके की प्रथम डोज़ देने के पश्चात वह कोविड-19 संक्रमण से ग्रसित हो जाता है तो दूसरी डोज़ रोगी के ठीक होने के 3 माह बाद लगायी जाएगी। डॉ.गुप्ता ने बताया कि शासन के दिशा-निर्देशानुसर लैब टेस्ट रिपोर्ट में व्यक्ति सार्स-2 को कोविड-19 स्थित से ग्रसित है तो रोगी के ठीक होने के 3 माह बाद कोविड-19 का टीका लगवाए।
कलेक्टर डी. सिंह ने मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी के हवाले से बताया कि कोरोना टीका का पहला डोज लगा है और 84 दिन की निर्धारित अवधि पूरी हो गई है वे टीकाकरण आकर दूसरा डोज अवश्य ले लें। शरीर के अंदर एंटीबॉडीज विकसित करने एवं कोरोना बचने के लिए दूसरा डोज अवश्य लें।