breaking news New

बदलेगा मौसम: महाराष्ट्र में गिरेंगे ओले, दक्षिण भारत में भारी बारिश की संभावना

बदलेगा मौसम: महाराष्ट्र में गिरेंगे ओले, दक्षिण भारत में भारी बारिश की संभावना


नई दिल्ली। भारतीय मौसम विभाग ने शनिवार को मौसम का हाल जारी किया है। जिसके मुताबिक विदर्भ और गंगीय पश्चिम बंगाल में आंधी-तूफान के हालात बने रहेंगे। दक्षिण मध्य महाराष्ट्र में भी ओलावृष्टि की आशंका है। उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, झारखंड और राजस्थान अगले 5 दिन लू की चपेट में आने वाले हैं।  
अगले पांच दिन में पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय में गरज के साथ आंधी, बिजली और तेज हवाएं (30-50 किमी प्रति घंटे की गति) प्रबल होने की संभावना है। जबकि अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड-मणिपुर-मिजोरम-त्रिपुरा में भी ऐसे ही हालात बने रहेंगे। पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में छिटपुट गरज के साथ छिटपुट वर्षा और बिजली गिरने की संभावना है।
बारिश से तर होगा दक्षिण भारत
आईएमडी के अनुसार 23 अप्रैल को दक्षिण तमिलनाडु और दक्षिण केरल में भारी बारिश होने की संभावना है। अगले 5 दिनों के दौरान केरल, तेलंगाना में, अगले दो दिनों के दौरान आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु में गरज के साथ छिटपुट बारिश, बिजली गिरने और तेज हवाएं (30-40 किमी प्रति घंटे की गति) चलने की संभावना है।
मध्यप्रदेश के 20 जिलों में हीट वेव अलर्ट
25 से लेकर 27 अप्रैल तक ग्वालियर के समेत करीब 20 जिलों में हीट वेव रहेगी। हालांकि इस दौरान हीट वेव से इंदौर और भोपाल समेत अन्य इलाकों में राहत रहेगी, लेकिन तापमान बढऩे से गर्मी धीरे-धीरे बढ़ेगी। मौसम विभाग के अनुसार अप्रैल के अंत तक प्रदेश भर में सभी इलाकों में तापमान 43 डिग्री से अधिक जा सकते हैं।
उत्तरप्रदेश भी सूरज की आंच में तपेगा
पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव लगभग खत्म हो गया है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक तापमान अब फिर से 45 डिग्री के पार तक जाएगा। बुंदेलखंड क्षेत्र में झांसी सबसे ज्यादा गर्म होगा। वहीं वाराणसी और आगरा का तापमान भी सबसे ज्यादा दर्ज किया जा सकता है। वहीं वाराणसी, अयोध्या और झांसी में पारा 45 के पार जाने के संकेत हैं।
छत्तीसगढ़ में बारिश से राहत भी आफत भी
प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में दिन का अधिकतम तापमान 38 डिग्री से नीचे आ गया। रात का तापमान भी 26 डिग्री से कम हो गया। बिलासपुर, पेंड्रारोड, राजनांदगांव समेत दूसरे इलाकों में बारिश से दिन का तापमान गिर गया। रायपुर के अलावा बस्तर, बिलासपुर व सरगुजा संभाग के कई स्थानों पर बारिश हुई है। यही कारण रहा कि पिछले 24 घंटे में प्रदेश में सर्वाधिक तापमान 38.1 डिग्री पर आ गया। बीजापुर में सर्वाधिक गर्म रहा। वहीं कुरुद में सबसे कम तापमान 21.2 डिग्री रहा।
24 घंटे में 21 जिलों में बारिश के बाद अचानक से बदला हवा का रुख खतरा लेकर आया है। शुक्रवार को पूर्वी से पश्चिमी हुई हवा हीट वेव का खतरा बढ़ा रही है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान आने वाले 5 दिनों तक हीट वेव के खतरे को लेकर है। शनिवार की सुबह तक बारिश का माहौल बना रहा लेकिन अचानक से मौसम में गर्मी आ गई है। सर्वाधिक अधिकतम तापमान 42.6 डिग्री सेल्सियस डेहरी में दर्ज किया गया।
राजस्थान में भी बढ़ जाएगा तापमान
मौसम विभाग के अनुसार एक चक्रवाती परिसंचरण दक्षिण-पश्चिम राजस्थान और उससे सटे पाकिस्तान के बीच बना हुआ है। इस मौसम प्रणाली के कारण अरब सागर से नमी मिल रही थी, जिसके चलते राजस्थान में बादल छा गए थे। बादल छंटने से फिर तापमान बढऩे लगा है।
देश के मैदानी इलाकों में पड़ रही भीषण गर्मी से बचने के लिए पर्यटक पहाड़ों का रुख करने लगे हैं। वीकेंड पर शिमला, नालदेहरा, ग्रीन-वेली, कुफरी, नारकंडा, फागू, महासू, चायल और कसोली में काफी संख्या में पर्यटक पहुंच रहे हैं। लाहौल स्पीति के रोहतांग, जिस्पा, हंसा में ताजा हिमपात, कुल्लू, कांगड़ा और मंडी जिला के कुछेक क्षेत्रों में हल्की बारिश के बाद तापमान में 5 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट आई है।