सियासत की गंजी में फिर उबल सकती है अंडे की सियासत

सियासत की गंजी में फिर उबल सकती है अंडे की सियासत


साक्षात्कार: भारतीय जनता महिला मोर्चा की अध्यक्ष लता एलकर
प्रणव पारे
भोपाल (ब्यूरो)।
मध्यप्रदेश की सियासत में एक बार फिर अंडे को लेकर उबाल आ सकता है। दरअसल, मध्यप्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमारती देवी ने आंगनबाडिय़ों में पोषण की दृष्टि से बच्चों को अंडे परोसे जाने की वकालत की थी जिस पर वो अब भी कायम है।
भारतीय जनता महिला मोर्चा की मुखर अध्यक्ष लता एलकर ने आज की जनधारा को दिए गए एक साक्षात्कार में जब इस मुद्दे पर उनसे सवाल किए तो उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर हमारा विरोध आज भी कायम है और रहेगा। मैं व्यक्तिगत रूप से इस बात की विरोधी हूँ। आंगनबाड़ी में बच्चों को क्या खिलाना है ये सरकार नहीं बल्कि पालकों को तय करने देना चाहिए। हम इस मुद्दे को मुख्यमंत्री और सभी स्तरों पर प्रमुखता से उठाएंगे।
संगठन पर सत्ता का कोई असर नहीं
मध्यप्रदेश के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने पाँच प्रदेश महामंत्रियों की नियुक्ति की है जिनके बारे में ये आरोप भी लगे थे कि ये सत्ता के चेहरे ज्यादा हैं, संगठन के नहीं। इस मुद्दे पर महिला मोर्चे की प्रदेश अध्यक्षा से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि पांचों महामंत्री संघर्ष की भट्टी से तपे हुए लोग हंै सभी का अपना जनाधार है। महू से हमारी बहन कविता पाटीदार को लिया गया है। मैं इस निर्णय से प्रसन्न हूँ क्योंकि कविता का बहुत शानदार व्यक्तित्व है और यदि संगठन में उन्हें ये मौका दिया है तो निश्चित तौर पर स्वागत योग्य है। दूसरी तरफ रणवीर सिंह हंै जो भाजपा किसान मोर्चा से आते हैं उनकी ग्रामीण क्षेत्रों में अच्छी पकड़ है। वो कार्यकर्ताओं के बीच काफी लोकप्रिय हैं, तो ये आरोप निराधार है कि सत्ता या संगठन में कोई इस तरह की बात है इसलिए ये आरोप बेबुनियाद है।
कांग्रेस पार्टी लव जिहादियों के साथ क्यों खड़ी है
महिला मोर्चे की प्रदेश अध्यक्षा ने बहुचर्चित सतना अश्लील वीडियो मामले पर कांग्रेस पर बड़ा हमला किया औऱ आरोप लगाया कि सतना में अभी जो वीडियो कांड हुआ है उसमें कांग्रेस पदाधिकारी समीर खान का नाम है और कांग्रेस पार्टी उन लोगों के साथ किस लिए खड़ी है? जबकि ये लव जिहाद का मामला है और इसके तार बहुत ऊपर तक जुड़े हंै। हम इस मुद्दे पर कांग्रेस पार्टी के खिलाफ आंदोलन करेंगे। लता एलकर का ये बयान इस समय आया है जब आज ही पुलिस ने इस मुद्दे पर कुछ लोगों को सतना में गिरफ्तार किया है और कई जगह छापेमारी भी की है।
राधेश्याम जुलानिया ने अपने अधिकारों का अतिक्रमण किया
माध्यमिक शिक्षा मंडल और लोक शिक्षण संचालनालय के बीच चल रही अधिकारों की लड़ाई पर श्रीमती एलकर ने बताया कि देखिए माध्यमिक शिक्षा मंडल का जो काम है वो परीक्षाएं लेना और परिणाम घोषित करना है। वहीं लोक शिक्षण संचालनालय का काम पाठ्यक्रम निर्धारण और उसके क्रियान्वयन का है तो सब अपना काम करें, एक दूसरे के काम में दखल न दें। झगड़ा तब खड़ा हुआ जब माध्यमिक शिक्षा मंडल के जुलानिया ने सभी अधिकार अपने क्षेत्र में लेकर लोक शिक्षण के कार्य अपने हाथ में लेना चाहा। यही कारण था कि रश्मि अरुण शमी को धारा 9/5 का उपयोग करना पड़ा। फिर ये उनके व्यक्तिगत अधिकारों की बात नहीं है। एक विभाग के अधिकारों की बात थी। यदि किसी इंस्टीट्यूशन के अधिकारों को कोई बाधित करेगा तो प्रमुख सचिव रश्मि शमी ने सही किया कुछ गलत नहीं किया।
माध्यमिक शिक्षा मंडल के जुलानिया ने अपने आदेश एकतरफा सुनाए, जिसके कारण निजी स्कूलों पर भी एकदम से वार हुआ जबकि निजी स्कूल भी शिक्षा के क्षेत्र में बराबरी का योगदान करते है। मुझे इस विषय में निजी स्कूलों का पक्ष जानने का मौका मिला और मैंने अपनी बात मुख्यमंत्री और शिक्षामंत्री के सामने प्रस्तुत की जिसे सुना गया और इस आदेश को निरस्त किया गया।
मंडलों के सेक्टर विस्तार से कम होगा कोरोना के संक्रमण का खतरा
आज की जनधारा को दिए गए साक्षात्कार में जब उनसे पूछा गया कि इस चुनाव में आप विशेष क्या देखती हंै तब उन्होंने संगठन के विस्तार और बूथ लेवल तक की गतिविधियों के बारे में बताया और विशेष रूप से सेक्टर समितियों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि इस बार के होने वाले चुनावों में मंडल स्तर पर सेक्टरों को ज्यादा से ज्यादा विस्तार से बांटने का काम किया गया है। जिससे चुनावी भीड़ भाड़ को विकेन्द्रित किया जा सके और कोरोना के संक्रमण के खतरे को कम किया जा सके।
17 सितंबर को सेवा दिवस के रूप में मनाएगी महिला मोर्चा
महिला प्रदेश मोर्चा अध्यक्ष ने बताया कि प्रधानमंत्री के जन्मदिवस पर इस बार सेवा दिवस में अस्पतालों के स्थान पर सेवा बस्तियों में और अनाथ आश्रम, वृद्ध आश्रमों में अपनी गतिविधियों को केंद्रित करने का निर्णय लिया है। जननी सुरक्षा जैसी गर्भवती स्त्रियों के पोषण आहर वाली योजनाओं को पुन: शुरू किए जाने की बात भी कही।