breaking news New

बसंती के घर भोजन व विकास योजनाओं का निरीक्षण करते सीएम योगी

बसंती के घर भोजन व विकास योजनाओं का निरीक्षण करते सीएम योगी

अयोध्या । सूबे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को रामनगरी अयोध्या पहुंचे उन्होंने सबसे पहले मंदिरों में दर्शन-पूजन किया इसके बाद विभिन्न विकास योजनाओं का निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद मुख्यमंत्री बेगमपुरा स्थित दलित बसंती के आवास पहुंचे।

जहां मुख्यमंत्री ने मंत्रियों संग जमीन पर बैठकर भोजन किया। मुख्यमंत्री को अपने बीच पाकर बसंती का परिवार निहाल दिखा और उनके अभिनंदन में कोई कसर नहीं छोड़ी। मुख्यमंत्री जैसे ही बसंती के घर पहुंचे परिजनों ने पुष्पवर्षा कर उनका स्वागत किया। इसके बाद उन्हें भोजन कराया। घर के एक कमरे में मुख्यमंत्री के भोजन की व्यवस्था की गई थी।

जमीन पर आसन लगाया गया था जिस पर मुख्यमंत्रियों ने अपने मंत्रियों संग बैठकर भोजन किया। उनके लिए भोजन में लौकी, आलू मटर व तोरई की सब्जी, दाल, चावल, रोटी बनाई गई थी। उन्हें रायता व देशी गाय के दूध से बनी खीर भी परोसी गई। मुख्यमंत्री ने बड़े ही चाव से खाना खाया और कहा कि खाना बहुत अच्छा बना है।

यह भी पूंछा कि खाना किसने बनाया है तो बसंती ने अपनी बेटी शीलम को आगे किया कहा कि महाराज जी मेरी बेटी शीलम ने भोजन बनाया है। उन्होंने बसंती व उनके पति मनीराम से पूंछा कि सारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है तो जवाब मिला कि सब कुछ मिल रहा है। मनीराम ने घर में बेरोजगारी की समस्या बताई तो मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया।

बेटी की शादी को लेकर चर्चा की तो कहा कि शादी के लिए भी सरकारी योजना है उसका लाभ लीजिए, पूरी मदद की जाएगी। मुख्यमंत्री ने करीब बीस मिनट तक बसंती के परिवार के बीच गुजारा।

मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर बसंती के घर के आस-पास सफाई की बेहतर व्यवस्था रही। उनके आगमन से कुछ ही मिनटों पूर्व मुहल्ले की सडक़ भी पानी से धुली गई। इस दौरान मंडल के प्रभारी मंत्री अरविंद शर्मा, मंत्री धर्मवीर प्रजापति, सांसद लल्लू सिंह, नगर विधायक वेद्रपकाश गुप्ता सहित अन्य मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आतिथ्य स्वीकार कर बसंती का परिवार गदगद था। बसंती के पति मनीराम ने बताया कि 2019-20 में उन्हें प्रधानमंत्री आवास मिला था। उनके चार बच्चे हैं दो लडक़े व दो लड़कियां।

दोनों लडक़ें बेरोजगार हैं, एक पढ़ाई कर रहा है तो दूसरो पेंटर का काम करता है। जबकि लड़कियों में एक की शादी हो गई है, दूसरी की शादी में आर्थिक समस्या सामने आ रहा है। मनीराम ने बताया कि योगी जी ने उन्हें मदद का आश्वासन दिया है।

बसंती ने कहा कि योगी बाबा तो हमारे लिए भगवान से कम नहीं हैं, हम टीन शेड में रहते थे, हमें उनकी कृपा से छत मिल गई है। मुख्यमंत्री के लिए भोजन बनाने वाली बसंती की छोटी बेटी शीलम ने कहा कि योगी बाबा के लिए हम जो सादा भोजन करते हैं वहीं बनाया भी था। उनके लिए लौकी व तोरई सहित आलू मटर की सब्जी बनाई थी।

दाल, चावल व रोटी भी बनाई। पता चला कि महाराज जी को रायता व खीर भी पसंद है तो उनके लिए रायता व देशी गाय के दूध की खीर भी बनाई। मनीराम ने बताया मुख्यमंत्री के लिए नई थाली की व्यवस्था की गई थी। कुछ बर्तन घर पर थे, कुछ किराए पर भी लाए हैं।