breaking news New

कृषि कानून को लेकर लगातार झूठ बोल रहे और भारत में लोकतंत्र को काल्पनिक बताने वाले राहुल मांगें माफी : सुशील

 कृषि कानून को लेकर लगातार झूठ बोल रहे और भारत में लोकतंत्र को काल्पनिक बताने वाले राहुल मांगें माफी : सुशील

पटना। राज्यसभा सांसद एवं बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के कृषि कानून के विरुद्ध दो करोड़ किसानों के हस्ताक्षर और भारतीय लोकतंत्र को काल्पनिक बताने वाले बयान को वर्ष का सबसे बड़ा झूठ बताया और कहा कि इसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता  मोदी ने शनिवार को ट्वीट किया कि  गांधी ने राफेल विमान सौदे पर लगातार झूठ बोला। इस मामले में उन्हें उच्चतम न्यायालय से माफी भी मांगनी पड़ी, फिर भी वे अपने बयानों के प्रति गैरजिम्मेदार ही बने रहे। कृषि कानून के विरुद्ध दो करोड़ किसानों के हस्ताक्षर और भारतीय लोकतंत्र को काल्पनिक बताना उनका नवीनतम झूठ है। उन्हें इस साल के सबसे बडे झूठ के लिए जनता से माफी मांगनी चाहिए।

 माेदी ने कहा कि असल में कांग्रेस सत्ता से बाहर होने का सच नहीं पचा पा रही है। जिन्हें बिहार में सत्ता जाने का सच नहीं पच रहा वे मध्यावधि चुनाव की भविष्यवाणी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सच तो यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लेकतंत्र उस जम्मू-कश्मीर में भी मजबूत हुआ, जहां 70 साल में पहली बार जिला परिषद के चुनाव सम्पन्न हुए।

भाजपा नेता ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और वामपंथी दलों ने नये कृषि कानून पर यदि झूठ न फैलाया होता, तथ्यों पर अपना रुख तय किया होता और किसानों के कंधे का इस्तेमाल कर प्रधानमंत्री श्री मोदी से राजनीतिक द्वेष निकालने से परहेज किया होता,तो गतिरोध अब तक खत्म हो गया होता। उन्होंने कहा कि जब सरकार छह सूत्री सुझाव मानने को तैयार है और प्रधानमंत्री बातचीत के लिए कह रहे हैं तब भी यदि किसान एक महीने से इतनी सर्दी में धरना दे रहे हैं, इसके लिए विपक्ष का रवैया जिम्मेवार है।