breaking news New

रसोई गैस बुकिंग में बड़ा बदलाव...अब किसी भी एजेंसी से सिलेंडर करा सकेंगे रीफिल..उपभोक्ताओं को पहले के मुकाबले अधिक सुविधाएं, बिना एड्रेस प्रूफ के ही मिलेगा छोटा सिलेंडर

रसोई गैस बुकिंग में बड़ा बदलाव...अब किसी भी एजेंसी से सिलेंडर करा सकेंगे रीफिल..उपभोक्ताओं को पहले के मुकाबले अधिक सुविधाएं, बिना एड्रेस प्रूफ के ही मिलेगा छोटा सिलेंडर

रायपुर. देश के करोड़ों रसोई गैस उपभोक्ताओं के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण खबर है. सरकार और पेट्रोलियम कंपनियां एलपीजी रसोई गैस सिलिंडर बुकिंग के नियमों में बड़ा बदलाव करने की तैयारी में है. बुकिंग नियमों में इस बदलाव के बाद उपभोक्ताओं को पहले के मुकाबले अधिक सुविधाएं मिलेंगी. इसके साथ ही, बुकिंग सिस्टम पहले से ज्यादा सुरक्षित और बेहतर हो सकेगा.

हालांकि, सरकार ने पिछले साल ही 1 नवंबर को एलपीजी सिलेंडर बुकिंग नियमों में कुछ बदलाव किया था, जिसके तहत बुकिंग को ओटीपी आधारित कर दिया गया था. आइए, जानते हैं कि एलपीजी बुकिंग के नियमों में बदलाव से कितनी सुविधाएं मिलेंगी...

खबर है कि सरकार और पेट्रोलियम कंपनियां उपभोक्ताओं के लिए एलपीजी सिलेंडर बुकिंग और रीफिल की प्रक्रिया आसान और फास्ट बनाने पर विचार कर रही हैं. इससे जुड़े सूत्रों का कहना है कि नियमों में बदलाव के बाद रसोई गैस के उपभोक्ता केवल अपनी की कंपनी की एजेंसी पर निर्भर नहीं रहेंगे, बल्कि वे अपने नजदीक की किसी भी कंपनी की गैस एजेंसी से अपने सिलेंडर की रीफिलिंग करवा सकते हैं. इसके लिए सरकार और पेट्रोलियम कंपनियों की ओर से इंटीग्रेटेड प्लेटफॉर्म तैयार किया जाएगा

इतना ही नहीं, उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए बिना किसी एड्रेस प्रूफ के ही 5 किलो वाले छोटू गैस सिलेंडर देने की भी योजना बनाई जा चुकी है. इस छोटे से गैस सिलेंडर का फायदा उन लोगों को मिलेगा, जो प्रवासी हैं. उन्हें उनके लिए एड्रेस प्रूफ की व्यवस्था करना मुश्किल होता है. ऐसे में यह सिस्टम उनके लिए सुविधाजनक साबित होगा. इस छोटे सिलेंडर को देश भर के किसी भी पॉइंट ऑफ सेल या डिस्ट्रीब्यूटरशिप लोकेशन से रिफिल कराया जा सकता है. इसे पेट्रोल पंप से भी रीफिल कराया जा सकता है.

इतना ही नहीं, अब आपकी रसोई में रंग-बिरंगे सिलेंडर जल्द ही दिखाई देंगे. पेट्रोलियम कंपनी इंडियन ऑयल ने बहुत ही सुंदर और सुरक्षित रंग-बिरंगा सिलेंडर तैयार किया है, जिसकी डिलीवरी जल्द शुरू की जाएगी. ये गैस सिलेंडर कंपोजिट फाइबर से तैयार किए गए हैं. ये गैस सिलेंडर 5 और 10 किलो गैस की क्षमता के साथ उपलब्ध होंगे. फाइबर से बने होने के चलते ये सिलेंडर काफी हल्के भी होंगे. लोहे के सिलेंडरों में लगभग 14.2 किलो गैस होती है, लेकिन फाइबर से बने कंपोजिट सिलेंडर में अधिकतम 10 किलो गैस आएगी. फाइबर से बना कम्पोजिट सिलेंडर पहली बार लोगों की किचन तक पहुंचेगा.