breaking news New

BIG NEWS : आरटीओ की अनदेखी से बारूद के ढेर पर इंदौर

BIG NEWS :  आरटीओ की अनदेखी से बारूद के ढेर पर इंदौर

इंदौर । इंदौर में बिना मान्यता प्राप्त सीएनजी किट लगाने वाले इन दिनों कारों व ऑटो रिक्शा में जो सीएनजी किट लगा रहे हैं वह पुरानी गाडिय़ों के हैं। इन किट को लगाने के लिए वैसे तो परिवहन विभाग मान्यता नहीं देता है, लेकिन भ्रष्टाचार इतना बढ़ गया है कि ऐसे ककिट को तीन से पांच हजार में मान्यता मिल रही है। अगर इस किट की टंकियों में विस्फोट हुअ और उसमें कई जानें गई तो उस समय सरकार भी कुछ नहीं कर पाएगी, सिर्फ मरने वालों को मुआवजा दे देगी। सूत्रों की मानें तो आरटीओ कर्यालय में भ्रष्टाचार इतना बढ़ गया है कि इस किट को लगाने के लिए मुंहमांगी रकम दी जा रही है। यह भी कहा जा रहा है िक पुराने किट लगाने में मान्यता प्राप्त गैस किट वाले भी हैं। कार और ऑटो रिक्शा में सीएनजी व एलपीजी किट लगाना हो तो उसकी मान्यता आरटीओ कार्यालय से ही मिलती है। रजिस्ट्रेशन में कौन सा किट लगाना है यह अंकित भी रहता है, तभी चेकिंग के दौरान यातायात पुलिस कोर्ठ कार्रवाई नहीं कर पाती है। नगर यातायात पुलिस को यह नहीं मालूम रहता है कि इस गाड़ी में कौन सा किट लगा है। यही भंगार किट चलती गाड़ी में फट गया तो उस समय कितनी जानें चली जाएंगी इसका हम अंदाजा भी नहीं लगा सकते। यानी इंदौर आरटीओ कार्यालय के भ्रष्टाचार से बारूद के ऐर पर बैठा है फिर भी जिम्मेदारों को कोई चिंता नहीं है।