breaking news New

भांग तस्करी रैकेट से सांठ गांठ के आरोप में महिला हेड कांस्टेबल निलंबित

 भांग तस्करी रैकेट से सांठ गांठ के आरोप में महिला हेड कांस्टेबल निलंबित

अगरतला . त्रिपुरा में पश्चिमी त्रिपुरा जिले के पुलिस अधीक्षक माणिक दास ने भांग तस्करी रैकेट के साथ साठ गांठ के आरोप में पूर्वी अगरतला थाने में तैनात एक महिला हेड कांस्टेबल को सोमवार को निलंबित कर दिया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि महिला हेड कांस्टेबल की भांग कारोबारी के साथ बातचीत का एक ऑडियो टेप सोशल मीडिया में वायरल होने पर पुलिस ने जांच शुरू की।

इस ऑडियो टेप में वह कारोबारी के साथ भांग के पत्तों के कीमत और परिवहन के तरीकों के बारे में बातचीत कर रही थीं। पुलिस ने प्रारंभिक जांच और पूछताछ के बाद बताया कि रैकेट में शामिल आरोपी महिला हेड कांस्टेबल गायत्री दास है। रिपोर्ट के अनुसार, चूंकि गायत्री लंबे समय से अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक के कार्यालय में तैनात हैं इसलिए उन्हें शीर्ष पुलिस अधिकारियों का संरक्षण हासिल है।

हेड कांस्टेबल होने के बावजूद उनकी पहुंच शीर्ष स्तर तक थी। जांच में यह भी पता चला है कि वह रैकेट के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की सूचना उसे पहले ही दे दिया करती थी जिसके कारण पश्चिमी त्रिपुरा में खुफिया जानकारी के आधार पर छापेमारी करने के बाद भी पुलिस को सफलता नहीं मिल सकी। पुलिस सूत्रों ने बताया कि महिला कांस्टेबल केवल भांग के रैकेट में ही नहीं बल्कि कई अन्य असामाजिक रैकेट से भी कथित तौर पर जुड़ी रही है।

पुलिस ने बताया कि ऑडियो टेप में महिला हेड कांस्टेबल के साथ बातचीत कर रहे भांग कारोबारी प्रशांत चक्रवर्ती अब तक गिरफ्तार नहीं हुआ है। दोनों आरोपी मोहनपुर क्षेत्र से हैं।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पिछले दो-ढाई वर्षों में भांग के कारोबारियों और उत्पादकों के साथ अवैध संपर्क के लिए अब तक 88 पुलिसकर्मियों को या तो निलंबित या गिरफ्तार किया जा चुका है।

इसके अलावा भांग की खेती और तस्करी में संलिप्तता के लिए 650 से अधिक नागरिकों को भी गिरफ्तार किया गया है और दोषी ठहराया गया है लेकिन उनमें से ज्यादातर को कमजोर जांच के कारण अदालतों से जमानत मिल गयी है।