breaking news New

मुख्यमंत्री ने किया भगवान राम, लक्ष्मण और माता सबरी की प्रतिमा का अनावरण

मुख्यमंत्री ने किया भगवान राम, लक्ष्मण और माता सबरी की प्रतिमा का अनावरण

राम वनगमन पर्यटन परिपथ :  शिवरीनारायण में हो रहे 36 करोड़ के विकास कार्य

जांजगीर।   मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज जांजगीर- चाम्पा जिले के शिवरीनारायण में राम वनगमन पर्यटन परिपथ के अंतर्गत लगभग 36 करोड़ रुपये के प्रस्तावित कार्यों के प्रारूप का अवलोकन किया।  मुख्यमंत्री ने मेला मैदान में भगवान राम, लक्ष्मण और माता शबरी की प्रतिमा का अनावरण भी किया। 


इस अवसर पर राज्यसभा सांसद पी एल पुनिया, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री  टी.एस. सिंहदेव, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री  जयसिंह अग्रवाल, नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री  शिवकुमार डहरिया, गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष महंत राम सुन्दर दास, विधायक मोहन मरकाम,  चंदन यादव, संसदीय सचिव  चन्द्रदेव राय  उपस्थित थे।

         राम वनगमन पर्यटन परिपथ के महत्वपूर्ण पड़ाव और महानदी, शिवनाथ और जोंक नदी के संगम पर स्थित शिवरीनारायण में रामायण की थीम पर विभिन्न विकास कार्य आकार ले रहे हैं। इनमें प्रमुख रूप से महानदी मोड़ पर 44 फ़ीट ऊंचा विशाल प्रवेश द्वार और इसके समीप 32 फ़ीट ऊंची भगवान श्रीराम सहित लक्ष्मण और माता शबरी की मूर्ति का निर्माण किया जायेगा।


शिवरीनारायण में माता शबरी की भक्ति एवं वात्सल्य के प्रतीक जूठे बेर खिलाने के प्रसंग को उद्धरित करते हुए नदीतट घाट एरिया का सुंदरीकरण के अंतर्गत 14 व्यू पॉइंट का निर्माण, आरती पूजन जन सुविधा के रूप में, फ़ूड प्लाज़ा, मेला ग्राउंड के पास कैफेटेरिया, पर्यटन सूचना केंद्र, पार्किंग एरिया का निर्माण, थ्री डी मॉडल, वाक थ्रू के प्रस्तावित प्रारूप का अवलोकन किया। उल्लेखनीय है कि राम वनगमन पर्यटन परिपथ राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है।


छत्तीसगढ़ वासियों के लिए भगवान केवल आस्था ही नहीं बल्कि भांजे के रूप में भी पूजनीय हैं। पर्यटन परिपथ में कोरिया से लेकर सुकमा तक लगभग 1440 किलोमीटर के पथ में 75 स्थलों का चिन्हांकन किया गया है। इनमें से प्रथम चरण में 9 स्थलों के विकास का बीड़ा राज्य सरकार ने उठाया है। इनमें सीतामणी हरचौका, रामगढ़, शिवरीनारायण, तुरतुरिया, चंदखुरी, राजिम, सिहावा, जगदलपुर और रामाराम ( सुकमा) शामिल हैं।