breaking news New

भारत में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्‍या पहुंच सकती है 25 लाख

भारत में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्‍या पहुंच सकती है 25 लाख


नई दिल्‍ली।   सरकार ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए 21 दिन का लॉकडाउन देश में घोषित कर दिया है, लेकिन जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी और द सेंटर फॉर डिजीज़ डायनेमिक्स, इकोनॉमिक्स एंड पॉलिसी ने भारत को लेकर रिपोर्ट तैयार की है, वह वाकई में डराने वाली है।

 जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी और द सेंटर फॉर डिजीज़ डायनेमिक्स, इकोनॉमिक्स एंड पॉलिसी  ने के अनुसार, भारत में कोरोना का कहर सबसे अप्रैल मध्य से लेकर मई मध्य तक देखने को मिलेगा। यहीं नहीं इससे संक्रमित होने वाले लोगों कीसंख्‍या 25 लाख तक पहुंच सकती है। हालांकि राहत की बात यह है कि जुलाई मध्य तक कोरोना के मरीजों की संख्या कम होती चली जाएगी और अगस्त तक इसके खत्म होने की उम्मीद है।

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि भारत  के लोगों में कोरोना के लक्षण तो हैं, लेकिन वह बहुत की कम स्‍तर पर है और इसका पता तभी चलेगा जब वह तीव्र होंगे। इसके साथ ही भारत में करीब 10 लाख वेंटीलेटर्स की जरूरत पड़ेगी, लेकिन भारत में अभी 30 से 50 हजार वेंटीलेटर्स ही हैं।

जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की स्टडी में बताया गया है कि बुजुर्गों की आबादी को सोशल डिस्टेंसिंग का ज्यादा ध्यान रखना होगा। जितना ज्यादा लॉकडाउन होगा उतने ही ज्यादा लोग बचे रहेंगे। सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा इससे बचने का फिलहाल कोई रास्ता नहीं है।

chandra shekhar