breaking news New

अगर नफरत बढ़ती रही तो भारत को बिखरने से नहीं रोका जा सकता

अगर नफरत बढ़ती रही तो भारत को बिखरने से नहीं रोका जा सकता

नईदिल्ली। नेशनल  कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने गुरुवार को आरोप लगाया कि नफरत भारत में चुनाव जीतने का हथियार है।  बीजेपी अगले साल की शुरुआत में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव जीतने के लिए इसे एक बार फिर इस्तेमाल कर रही है.

 अब्दुल्ला ने लोगों से जम्मू-कश्मीर के साथ-साथ देश को बचाने के लिए नफरत से लड़ने का आह्वान किया और चेतावनी दी कि अगर नफरत बढ़ती रही तो भारत को बिखरने से नहीं रोका जा सकता. 

न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार,  अब्दुल्ला ने यहां तक कह दिया कि हिन्दुस्तान के इतने टुकड़े होंगे कि इसे रोका नहीं जा सकेगा.फारूक अब्दुल्ला ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा, ''हमें सांप्रदायिकता से लड़ना है. हमें हिंदुओं और मुसलमानों के बीच बनाई जा रही नफरत की दीवार को नीचे गिराना है. हमें इस नफरत को खत्म करना है. इसके बिना, न तो भारत बचेगा है और न ही जम्मू-कश्मीर. अगर हमें भारत को बचाना है, हमें इस नफरत को खत्म करना होगा.''

उन्होंने कहा, "मैंने आजादी के बाद से हर चुनाव में इसे देखा है. मुस्लिम नेताओं को मुस्लिम इलाकों में ले जाया जाता है और हिंदू नेता हिंदू इलाकों में जाते हैं." अब्दुल्ला ने बीजेपी पर यूपी में चुनाव जीतने के लिए नफरत और फूट डालने की राजनीति करने का आरोप लगाया. 

उन्होंने साल 2019 में पुलवामा हमले के बाद हुई बालाकोट एयरस्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा, "पिछला चुनाव में भी बालाकोट के बाद बीजेपी सरकार सत्ता में आई थी. आज, वे वही काम कर रहे हैं. आज वे फिर से जम्मू में भी यूपी में चुनाव जीतने के लिए नफरत फैला रहे हैं." 

उन्होंने कहा, "क्या रेखा (नियंत्रण रेखा) बदल गई है. क्या हमने पाकिस्तान से कोई क्षेत्र वापस ले लिया है? नियंत्रण रेखा जमीन पर मौजूद है." उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर का प्रवेश द्वार है और कश्मीर लद्दाख का प्रवेश द्वार है. उन्होंने कहा, "अगर वे (भाजपा सरकार) सोचते हैं कि वे इस राज्य को तोड़ देंगे, तो मैं उनसे कहना चाहता हूं: सावधान, ऐसी मानसिकता न रखें. यह देश नहीं बचेगा.''