breaking news New

असलहा फैक्ट्री का भण्डाफोड़,नौ गिरफ्तार,बड़ी संख्या में हथियार बरामद

असलहा फैक्ट्री का भण्डाफोड़,नौ गिरफ्तार,बड़ी संख्या में हथियार बरामद

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने गुरुवार को मऊ शहर में अन्तर्राज्यीय स्तर पर हथियारों की तस्करी करने वाले गिरोह द्वारा चलाई जा रही असलहा बनाने की फैक्ट्री का भण्डाफोड़ कर मौके से दो महिलाओं समेत नौ लोगों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से बड़ी संख्या में हथियार और उनके बनाने का सामान व उपकरण आदि बरामद किए।

एसटीएफ प्रवक्ता ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एसटीएफ ने सूचना मिलने पर आज मऊ के

दक्षिणटोला इलाके में एक मकान पर छापा मारकर अवैध रूप से असलहा बनाने की फैक्ट्री का भण्डाफोड़ किया। मौके से बड़ी संख्या में निर्मित एवं अर्धनिर्मित असलहा एवं उनके बनाने के सामान व उपकरण बरामद किये।

उन्होंने बताया कि इस मामले पुलिस ने दो महिला समेत नौ लोगों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपियों में मुंगेर बिहार निवासी तनवीर आलम ,भागलपुर बिहार निवासी मो0 रिजवान अंसारी ,मुंगेर बिहार निवासी मो0 रिजाउल हक ,

मो0 खालिद ,मो0 परवेज आलम,रूबीना अंसारी ,शबाना खातून ,शबनम बानो और मऊ निवासी लियाकत अली को गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया गिरफ्तार आरोपियों में आठ बिहार के रहने वाले हैं और यहां रघुनाथपुरा थाना कोतवाली, इलाके में किराये के मकान में रहकर असलहा फैक्ट्री का संचालन करते थे। मौके से पुलिस ने देशी पिस्टल और तमंचे के अलावा अर्द्धनिर्मित 31 पिस्टल बड़ी में उनके बनाने का सामान और उपकरण बरामद किए।

प्रवक्ता ने बताया कि पूछताछ पर पता चला कि तनवीर व तबरेज आपस मे सगे भाई है तथा दो सगी बहनो से इनकी शादी हुई है। जो मूलरूप से मुंगेर बिहार के रहने वाले है वर्तमान समय मे मऊ शहर में मौहल्ला

रघुनाथपुरा व प्यारेपुरा मे अपना निजी मकान बनाकर परिवार के साथ रहते है तथा अवैध हथियार के निर्माण के लिए कच्चा माल कोलकाता से ट्रांसपोर्ट के माध्यम से तथा शालीमार एक्सप्रेस ट्रेन से लाते है। दोनो अपने-अपने घरो पर तनवीर द्वारा स्वयं तथा परवेज के साथ मिलकर तथा तबरेज के घर पर रिजवान व खालिद, लियाकत उपरोक्त द्वारा अवैध हथियार बनाने की मशीने लगाकर अवैध हथियारों व उसके पार्टस निर्मित करते थे।

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार रिजाउलहक 20-20 का पैकेट बनाकर प्रति अर्द्धनिर्मित असलहे का 3500 रूपये प्रति असलहे की दर से भुगतान कर मुंगेर ले जाकर सोनू उर्फ सज्जाद निवासी मुंगेर व अन्य को 6500 रूपये प्रति हथियार की दर से सप्लाई करते थे। सज्जाद व अन्य सहयोगियो ने इस अवैध असलहों को फिनिसिंग के बाद तैयार कर प्रति पिस्टल 25-30 हजार रूपये में बदमाशों को बेचे थे।

गौरतलब है कि गिरफ्तार तनवीर, तबरेज, रियाजुल, खालिद, रिजवान, परवेज व गिरफ्तार महिलाएं सभी मुंगेर (बिहार) के रहने वाले है तथा कुछ वर्षों से मऊ शहर में रहकर अवैध हथियों का कारोबार संगठित गिरोह के रूप में

कर पैसा कमा रहे थे। गिरफ्तार तनवीर आलम पूर्व मे भी वर्ष 2011 मे इसी धन्धे मे गिरफ्तार किया गया था, जिसके विरूद्ध कोतवाली मऊ में मामला दर्ज है। गिरफ्तार आरेपियों को जेल भेजा जा रहा है।