breaking news New

भानुप्रतापपुर Breaking : कन्हैया गावड़े मामले में पेंचकस से आया नया मोड़

भानुप्रतापपुर Breaking : कन्हैया गावड़े मामले में पेंचकस से आया नया मोड़

 मामले की जांच ठंडे बस्ते में

भानुप्रतापपुर। कन्हारगांव के वृद्भ विकलांग कन्हैया गावड़े की हत्या मामले में पुलिस पहले ही एक आरोपी को  गिरफ्तार कर चुकी है, अब जांच में नया मोड़ सामने आया है। पुलिस का कहना है कि हत्या की घटना के महज एक दो दिन पूर्व किसी व्यक्ति को घटना स्थल की ओर पेचकस ले जाते हुए एक व्यक्ति ने देखा है। उक्त व्यक्ति का बयान लेकर पकड़े गए आरोपी के पास ले जाकर पहचान कराएगी कि पेचकस ले जाते हुए यही व्यक्ति को देखा था या कोई दूसरा था।

 पेंचकस से खुल सकता है नया मामला

इस हत्या में कई तरह के बाते सामने आ रही है। लोगो के बीच चर्चा होते देखा जाता है कि पुलिस ने पहले इसे सामान्य मौत बताया था और जब मामला गरमाया तो एक व्यक्ति को हत्या के मामले में गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने पहले बताया था कि हत्या जैसे कोई स्थिति नही थी मृतक की सामान्य मौत हुई है। मृतक के शरीर में किसी प्रकार के चोट के निशान नही है वह भूख से मरा है। लेकिन आरोपी के अनुसार उसने मृतक को पत्थर से शिर पर वार किया है। पुलिस ने भी पत्थर को बरामद कर लिया है। वहीं अब पुलिस बता रही है कि घटना स्थल पर खून के धब्बे पाया गया है, जिसकी जांच हेतु लैब भेजा जाएगा। ये भी सोचनीय पहलू है कि क्या पहले घटना स्थल पर खून के धब्बे नही थे? जबकि फॉरेंसिक जांच भी किया गया था, जिसमे हत्या जैसे कोई बात होना नहीं बताया था। 

आरोपी के पकड़े जाने के बाद मामला ठंडे बस्ते में

हत्या करने वाले आरोपी के पकड़े जाने बाद यह मामला ठंडे बस्ते में चला गया। वहीं जानकारी के अनुसार जमीन खरीदी बिक्री के सम्बंध में भी कोई जांच पड़ताल नही किया गया। पुलिस ने बताया कि जांच जारी है और जल्द ही जमीन खरीदी बिक्री के बारे मे भी जांच पड़ताल किया जायेगा। 

यह कुछ बाते है जो चर्चा का विषय बना है

अब तक जिस खाते में लाखो रुपये की लेन देन हुई थी उस खाते की जांच अब तक नही हुई है। 

अगर मृतक ने दुकानदार को सामान लेने के लिए इतनी बड़ी राशि दी थी तो उक्त दुकानदार सामान दिया है कि नही अगर दिया है तो लाखों रुपए का सामान कौन सा घर मे  लगाया गया या फिर किसे को दे तो नही दिया।

मृतक के परिवार के सदस्यों की बयान अब तक नही हुई।

 प्रशासन ने मृतक के परिवारों के बयान भी अब तक दर्ज नही कर पाई है। एस.डी.एम जितेन्द्र यादव ने बताया कि बयान के लिए मृतक के परिवार के सदस्यों को बुलाया जाता है लेकिन कोई भी उपस्थित नही होता है, आते भी है तो पूरे सदस्य नही आते इस लिए मामला आगे नही बढ़ पाया है।