breaking news New

महिला ने किसानों की 6 बिंदुओं को लेकर सौंपा ज्ञापन, उग्र आंदोलन के लिए बाध्य मालखरौदा

महिला ने किसानों की 6 बिंदुओं को लेकर सौंपा ज्ञापन, उग्र आंदोलन के लिए बाध्य मालखरौदा


संजू लहरे

क्षेत्रीय, युवा ,किसान ,महिला ने किसानों की 6 बिंदुओं को लेकर सौंपा ज्ञापन। 

मांग पूरी नहीं होने पर 23/9/2021 दिन गुरुवार को उग्र आंदोलन के लिए बाध्य मालखरौदा

जांजगीर चांपा /मालखरौदा।  जांजगीर चांपा अंतर्गत आने वाले जनपद पंचायत मालखरौदा का मामला जहां विगत 2 माह से किसान परेशान हैं अपनी खेती को बेहतर बनाने के लिए किसान अपने खेत में यूरिया डीएपी जैसे आदि दवाइयों का छिड़काव करते हैं जिससे पैदावार अच्छी हो और अच्छे उन्नत किस्म के धान लगे लेकिन यहां धांधली जोरों पर है किसान यूरिया डीएपी को लेकर भारी परेशान नजर आ रहे हैं जिस की समस्याओं को लेकर किसान अधिकारी के पास जाते तो हैं किंतु वहां आश्वासन के अलावा और कुछ नहीं मिलता देखा जाए तो यह पूरा मामला अधिकारी और सेट मारवाड़ी के इशारों पर कार्य करती है जो खाद कार्यालय में नहा पहोचती और बड़े-बड़े मंडी गोदाम में ही स्टोर की जाती है जिससे किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ता है इन समस्याओं को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन का क्षेत्रीय युवा किसान महिला द्वारा धरना प्रदर्शन का आवाहन किया गया है

6 बिंदुओं पर मुख्य मांगे

1.क्षेत्र के समस्त किसानों को खाद्(यूरिया,डीएपी,फास्पोरस खाद्)उपलब्ध कराई जावे।

2.क्षेत्र में अवैध शराब बिक्री पर रोक लगाई जावे।

3.क्षेत्र के अवैध खाद एवं दवाइयों के फर्जी विक्रेताओं पर कार्यवाही किया जावे।

4.क्षेत्र के समस्त विभागों में कार्यरत शासकीय कर्मचारियों को मुख्यालय में उपस्थिति अनिवार्य की जावे।

5.मालखरौदा मुख्यालय की सामुदायिक स्वस्थ्य केंद्र एवं क्षेत्रीय प्राथमिक व उप स्वास्थ्य केंद्र की व्यवस्था दुरुस्त करना एवं 24 घंटे स्वास्थ्य सुविधा एवं उपचार मुहैया कराया जावे।

(1)- क्षेत्र में समस्त किसानों को यूरिया डीएपी फास्फोरस को मुहैया कराई जाए इसकी समस्या किसानों को इसलिए पड़ रही है क्योंकि अधिकारी और सेठों की मिलीभगत के कारण किसानों को अधिक दामों पर खाद मिल रही है जो मंडी में ना करके सीधे सेठ लोगों के गोदाम में ही डंप किया जा रहा है जिससे दुकानदार लोग अधिक दामों पर किसानों को बेच रहे हैं जिसकी खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है

(2)- क्षेत्र में शराब जोरों पर बिक रही है जिसका कोई इलाज नहीं थाना प्रभारी कमल किशोर महतो के द्वारा इस पर कोई लगाम नहीं लगाया जा रहा जिसका खामियाजा पढ़े-लिखे युवा बच्चे और किसानों को भुगतना पड़ रहा है

(3)- क्षेत्र में अवैध खाद भी जोरों पर बिक रही है जिससे किसान परेशान है ₹300 में मिलने वाला खाद ₹800 तक बेचा जा रहा है और अधिकारियों द्वारा इस पर कोई कार्यवाही नहीं की जा रही जिससे दुकानदारों का हौसले बुलंद नजर आ रहे हैं

(4)- मालखरौदा क्षेत्र में समस्त विभागों के कार्यरत शासकीय कर्मचारी को मुख्यालय में ना रह करके 30 किलोमीटर 40 किलोमीटर का सफर करते हैं जिससे क्षेत्र के पढ़े लिखे युवा विद्यार्थी परेशान हैं जो सुविधा तत्काल मिलनी चाहिए वह 24 घंटे बाद मिलता है क्षेत्र के समस्त कार्यरत शासकीय कर्मचारियों को मुख्यालय में ही निवास करनी चाहिए जो कि निवास ना करके दूर से ही आना-जाना करते हैं

(5)- मालखरौदा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र आए दिन सुर्खियों पर नजर आते हैं जिससे मरीजों को समस्याओं का सामना करना पड़ता है मालखरौदा के बीएमओ के द्वारा हमेशा लापरवाही बरती जाती है और मुख्यालय में भी नहीं रहते स्टाफ के कर्मचारी भी नदारद रहते हैं जिससे मरीजों को उचित इलाज के लिए दर-दर भटकना पड़ता है और एक्सरे सोनोग्राफी के लिए कोई मशीन व्यवस्था भी नहीं है


विजेंद्र पाल शतरंज  

(सामाजिक कार्यकर्ता,किसान)

क्षेत्र में बहुत सारी समस्याएं हैं जिससे दूर करने के लिए अब  युवा ,किसान, महिलाओं ने एक दिवसीय धरने प्रदर्शन का आवाहन किया है जल्द ही  शासन-प्रशासन इन सारी समस्याओं को दूर करें अन्यथा उग्र आंदोलन के लिए बाध्य रहेंगे मालखरौदा