breaking news New

पंडरी पुलिस की कस्टडी में हत्या के आरोपी ने की सुसाइड से हड़कंप, डियूटी में तैनात 4 पुलिस वाले लाइन अटैच

 पंडरी पुलिस की कस्टडी में हत्या के आरोपी ने की सुसाइड से हड़कंप, डियूटी में तैनात 4 पुलिस वाले लाइन अटैच

रायपुर . राजधानी के पंडरी थाने में हत्या के आरोपी अश्वनी मानिकपुरी की थाने के बाथरूम में संदिग्ध मौत के पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया . बड़ी संख्या में लोगों ने थाने का घेराव कर दिया . 

सूत्रों के मुताबिक आरोपी ने शाम को थाने के बाथरूम में बेल्ट से फांसी लगा ली .पंडरी थाने के पुलिस का दावा है कि यह आत्महत्या का मामले है . घटना के वक्त डियूटी में तैनात चार पुलिस कर्मियों को लाइन अटैच कर दिया .वहीं आरोपी के परिजनों ने पुलिस पर हत्या का आरोप लगाते हुए पंडरी थाने का घेराव कर दिया . इसके कारण लगभग दो घंटे तक रायपुर -बलौदाबाजार हाइवे पर मोटर गाड़ियों की लंबी कतरे देखी गई . बड़ी संख्या में थाने पहुंचकर रात नौ बजे लोगोने ने बवाल मचा दिया .परिजनों ने पुलिस पर हत्या का आरोप लगाते हुए जानकज की मांग की है .

पंडरी थाना के पुलिस ने दावा किया कि आरोपी 4 बजे बाथरूम गया और अंदर  ही बेल्ट से फांसी लगा ली .  उसे फ़ौरन अस्पताल  ले जाया गया लेकिन डाक्टरों ने उसे मृत्यु घोषित कर दिया . अश्वनी मानिकपुरी की पुलिस कस्टडी में हुई मौत से चार पुलिस वालों पर गाज गिरी है . एसएसपी अजय यादव ने डियूटी पर तैनात  एक एसआई ,एक हवलदार ,और दो आरक्षक समेत  चार पुलिस कर्मियों को लाइन अटैच कर दिया .


रविवार को पंडरी के मंडी चौक राम मंदिर के पास हुई हत्या की वारदात के सिलसिले में इसे पूछताछ के लिए थाने लाया गया था। घटना के कुछ ही देर बाद न्यायिक जांच शुरू कर दी गई। कांस्टेबल खेलन साहू, देवधर जंघेल, नंदकिशोर गुप्ता और मंजीत केरकेट्‌टा को इस मामले में लाइन अटैच कर दिया गया है। पूरे मामले की न्यायिक जांच शुरू हो गई है। मृतक के परिजनों का मजिस्ट्रेट ने बयान लिया है।

पुलिस कस्टडी में हुई यह मौत हत्या के केस से जुड़ी है। रविवार को पंडरी इलाके में अमित गाइन नाम के युवक को कुछ बदमाशों ने चाकू मारा था। मंगलवार को इलाज के दौरान अमित की मौत हो गई। इसी मामले में पुलिस बुधवार की दोपहर अश्वनी को पलारी से पकड़कर लाई, यह वहां अपने किसी रिश्तेदार के घर पर छुपा बैठा था। शाम को अश्वनी की मौत की खबर आई। घटना के वक्त थाने में अश्वनी का जीजा जीवन यादव भी मौजूद था। इसे पुलिस अश्वनी के बारे में पूछताछ करने लेकर आई थी। इसी के सामने अश्वनी वॉशरूम गया और जान दे दी। जीवन ने बताया कि पुलिस ने अश्वनी के साथ किसी तरह की मारपीट नहीं की थी, आखिर उसने जान क्यों दी यह मुझे भी समझ नहीं आया।