breaking news New

शहीद वीर नारायण सिंह का 164वां शहादत दिवस मनाएगा संयुक्त किसान मोर्चा

  शहीद वीर नारायण सिंह का 164वां शहादत दिवस मनाएगा संयुक्त किसान मोर्चा

रायपुर। भारत के स्वतंत्रता संग्राम में 1857 की क्रांति अंग्रेजों के विरूद्ध विश्व इतिहास में दर्ज है। लाखों-करोड़ों क्रांतिकारियों के साथ ही छत्तीसगढ़ के प्रथम क्रांतिकारी शहीद वीरनारायण सिंह सोनाखान के जमींदार (जिला बलैादाबाजार) ने अकालग्रस्त प्रजा को जमाखोरी करने वाले व्यापारियों के गोदामों में स्थित अनाज को आम जनता को नि:शुल्क बांटा था।

छत्तीसगढ़ संयुक्त किसाना मोर्चा के आंदोलनकारियों ने इस वर्ष 10 दिसंबर को शहीद वीरनारायण सिंह का 164वां शहादत दिवस जयस्तंभ चौक में मनाने जा रहा है। उक्त जानकारी प्रेसक्लब रायपुर में आयोजित पत्रकारवार्ता में संयुक्त किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अनिल दुबे, प्रांतीय प्रवक्ता जागेश्वर प्रसाद, दुर्ग प्रभारी अशोक ताम्रकार, राज्य आंदोलनकारी एवं किसान नेता जीपी चन्द्राकर, किसान नेता रामगुलाम सिंह ठाकुर एवं बालोद प्रभारी बेगेन्द्र सोनबेर ने संयुक्त रूप से दी। 

पत्रकारवार्ता अनिल दुबे ने बताया कि शहादत दिवस के अवसर पर किसान मोर्चा के हजारों कार्यकर्ता जयस्तंभ चौक में सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक आयोजित होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों में यथा अंग्रेजों द्वारा क्रुरतापूर्वक फांसी की सजा देने से पूर्व उन्हें जीप में बांधकर घटनस्थल तक लाकर यातना देने के संबंध में कलाकारों द्वारा नाटिका का मंचन किया जाएगा। संपूर्ण जयस्तंभ चौक को फूलों से सजाया जाएगा।

शाम को 164 दियों को प्रज्जवलन कर शहीद वीरनारायण सिंह को उपस्थितजनों द्वारा श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी। उक्त आयोजन में वार्ताकारों ने आमजनों से सामाजिक संगठनों सहित अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर छत्तीसगढ़ के प्रथम क्रांतिकारी शहीद वीरनारायण सिंह को श्रद्धांजलि देने की अपील की है।