breaking news New

किसानों को लेकर सरकार की नीयत साफ नहीं, भाजपा करेगी विशाल धरना प्रदर्शन - नीलू शर्मा

 किसानों को लेकर सरकार की नीयत साफ नहीं, भाजपा करेगी विशाल धरना प्रदर्शन  - नीलू शर्मा

 रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं धमतरी जिले के संगठन प्रभारी  नीलू शर्मा ने जिला भाजपा कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि धान खरीदी में हो रही अव्यवस्था तथा धान के भुगतान को लेकर सरकार के ढुलमुल रवैये से छत्तीसगढ़ के किसानों में आक्रोश लगातार बढ़ता जा रहा है। पहले तो सरकार द्वारा लगातार 2 वर्षों से धान की खरीदी विलंब से शुरू की जा रही है। खरीदी केंद्रों में अव्यवस्था का आलम है। बारदाने की कमी सॉफ्टवेयर में गड़बड़ी के बहाने किसानों को परेशान किया जा रहा है। अपने वादे के मुताबिक धान की कीमत 2500 रु क्विन्टल की दर से भुगतान करने में सरकार अभी तक असफल रही है। पिछले वर्ष की अंतर की राशि की किश्तें अभी तक बकाया है। इस वर्ष का समर्थन मूल्य से भुगतान तक अभी तक किसानों के खाते में नियमित रूप से नही किया जा रहा है। इस वर्ष के अंतर की राशि सरकार कब तक दे पायेगी इसको लेकर संशय की स्थिति है।

धान खरीदी में विलंब के कारण सुखत का नुकसान किसानों को उठाना पड़ा है। मौसम की खराबी से भी किसानों को भारी नुकसान हुआ है। अनेक सोसाइटियों में किसानों के नाम पंजीयन सूची से जबरन काटे गये हैं। गिरदावरी के नाम पर किसानों के रकबे में औसतन 15 फीसदी तक कि कटौती की गई है। धान खरीदी केंद्रों में धान का उठाव नही होने से जाम की स्थिति है। धान खरीदी प्रदेश में अंतिम चरण में है जबकि अभी तक केवल 50-60 फीसदी धान की ही खरीदी हो सकी है। सरकार किसानों के मुद्दों पर हर मोर्चों पर विफल रही है।

कांग्रेस के नेता अपनी सरकार की नाकामी का ठीकरा केंद्र सरकार पर फोडऩे का प्रयास कर रहे हैं। कांग्रेस के नेताओं ने चुनाव के पूर्व यह कहा था कि किसानों से जो वादे वो कर रहे हैं उसके लिये पैसा कहां से आएगा इसका भी पूरा हिसाब किताब उन्होंने लगा लिया है। गंगाजल हाथ मे लेकर कसम खाई थी कि 2500 रु से भुगतान करेंगे। 2 वर्ष का पिछला बकाया बोनस तत्काल देंगे। सभी किसानों के सभी प्रकार के कर्ज माफ करेंगे। एक एक दाना धान खरीदेंगे जैसे तमाम वादों की हवा 2 सालों में निकल चुकी है। सरकार 25000 करोड़ के नये कर्ज प्रदेश की जनता पर अब तक लाद चुकी है। छत्तीसगढ़ प्रदेश अब शराब और अन्य नशीले पदार्थों के सौदागरों की शरण स्थली बन चुका है। जिलाध्यक्ष ठाकुर शशि पवार ने कहा कि सरकार के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का समय आ चुका है। प्रदेश संगठन के निर्देशानुसार प्रत्येक जिले में धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम बन चुका है।

धमतरी जिले में भी 13 जनवरी को तीनो विधानसभाओं में विधानसभा स्तरीय धरना प्रदर्शन का बड़ा कार्यक्रम किया जायेगा। साथ ही 22 जनवरी को जिला स्तर पर विशाल धरना प्रदर्शन किसानों की समस्याओं को लेकर किया जायेगा। उक्त सभी कार्यक्रमो की रूपरेखा तैयार करने 8 जनवरी को कुरूद विधानसभा में तथा 9 जनवरी को सिहावा एवं धमतरी विधानसभा में प्रमुख पदाधिकारियों की विधानसभा स्तरीय बैठक आयोजित की गई है। 

पवार ने जिले के समस्त ज्येष्ठ श्रेष्ठ कार्यकर्ताओं तथा प्रत्येक स्तर के जनप्रतिनिधियों से इन कार्यक्रमों के लिये सक्रिय सहयोग की अपील की है ताकि किसान की समस्याओं को लेकर सरकार से निर्णायक लड़ाई लड़ी जा सके। पत्रकार वार्ता में जिला महामंत्री कविन्द्र जैन प्रकाश बैस पूर्व विधायक श्रवण मरकाम महेंद्र पंडित जिला उपाध्यक्ष अरविंदर मुंडी चेतन हिन्दुजा प्रीतेश गांधी त्रिलोक जैन राजेन्द्र गोलछा ऋषभ देवांगन मोहन नाहटा विजय साहू हेमंत चंद्राकर कीर्तन मीनपाल अखिलेश सोनकर उपस्थित थे।

वहा लगे केला और गन्ने को खाकर खड़े रहे, वही नगरी के वार्ड नंबर 8 राइस मिल के पीछे अशोक पटेल के खेत में बने लारी की दीवार को गिरा दिया और डिपो अंदर घुस कर वापस जंगल की ओर चले गए जिसे भगाने वन प्रहरियों ने कई जतन किये। विभागीय सूचना के मुताबिक गजदल फिरहाल संबलपुर व अमाली के जंगल मे मौजूद है। नगरी मैं भी खेत में मिले पंजे के निशान साथ ही कक्ष क्रमांक 371 तक उनके पद चिन्ह मिले है जिनकी संख्या 27 से 28 है और उसमें 11 बच्चे शामिल है।

विभाग की अपील-

वन विभाग की जानकारी के मुताबिक 5 जनवरी को हाथियों का झुंड क्षेत्र में घुसने की सूचना पर लगभग सभी ग्रामो को अलर्ट कर दिया गया है लोगो से महुआ का उपयोग नहीं करने की बार-बार अपील की जा रही है। प्रशिक्षु आईएफएस आलोक बाजपाई ने कहा है महुआ के सुगन्ध से हाथी घरों में पहुच सकता है नुकसान भी पहुचा सकता है इसलिए जो भी महुआ शराब का सेवन करते है अभी घर पर न बनाये और रात में अपने घर के सामने अलाव जलाकर उसमें मिर्च डाले ताकि इसकी सुगंध से हाथी दूर चला जाए। 

वनमण्डलाधिकारी सातोविशा सामाजदार के निर्देशन पर विभाग के प्रहरी पहरे पर लगे है रात जागरण कर पल-पल की खबर रखे हुए है।

हाथियों से बचाया उडऩदस्ता टीम ने-

रामूलाल उम्र 70 वर्ष ग्राम जैतपुरी हरेंद्र नेताम उम्र 23 वर्ष बलीराम उम्र 50 वर्ष गोरेगांव से जैतपुरी की ओर रात्रि 9 बजे जा रहे थे तभी गोरेगांव से महज 1 किलो मीटर दूरी में 3 हाथियों के झुंड को देख आधे रास्ते अपनी जान बचाते गाड़ी को वहीं छोड़ गांव की ओर भागे जिन्हें उडऩदस्ता टीम के नरेश उपाध्याय द्वारा रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया।