breaking news New

कलेक्टर अपनी अर्धांगिनी के साथ चंद्रहासिनी मंदिर में किया विधि विधान से पूजा पाठ

कलेक्टर अपनी अर्धांगिनी के साथ चंद्रहासिनी मंदिर में किया विधि विधान से पूजा पाठ


चन्द्रपुर- जांजगीर-चांपा जिले के संवेदन सील जितेंद्र शुक्ला  ने अपनी अर्धांगिनी के साथ मां चंद्रहासिनी मंदिर में क्वार नव्ररात्र के प्रथम दिन विधि विधान से पूजा पाठ किया गया। 

जांजगीर-चांपा जिले के कलेक्टर जितेंद्र शुक्ला क्वार नवरात्रि के प्रथम दिन ही चंद्रपुर नगर पहुंचे ,और मां चंद्रहासिनी के मंदिर में अपना मत्था टेका ,और जांजगीर चम्पा जिला तथा प्रदेश व देश दुनिया में शांति बनी रहे। इसके लिए माता चंद्रहासिनी से प्रार्थना किया।  साथ ही साथ उनके द्वारा यह भी संदेश लोगों को दिया कि वे   जिले के कलेक्टर के साथ-साथ इस जिले के भाचा भी हैं ।


आपको बता दें जांजगीर-चांपा जिले के कलेक्टर जितेंद्र  शुक्ला का मामा घर अड़भार में है। उनकी बचपन कि कुछ शिक्षा उनके द्वारा मामा घर रह कर प्राप्त किया हुआ है। चंद्रपुर नगर में प्रति वर्ष अनुसार इस वर्ष भी माता चंद्रहासिनी कीी पूजा अर्चना विधिि विधान से हो रही है/माता चंद्रहासिनी मंदिर में लगभग इस क्वार नवरात्रि 2021 में ज्योत कलश कि संख्या लगभग 12 हजार रहा। कोरोना गाइडलाइन के अनुसार चंद्रपुर नगर में मंदिर में लोगों का भीड़ एकत्र होना शुरू हो गया है। जिस पर की शासन प्रशासन को कोरेना गाइडलाइन के अनुसार से सभी नागरिकों को माता का दर्शन करवाना चुनौतीपूर्ण कार्य होगा। क्योंकि शासन प्रशासन को जहां बाहर से आए लोगों को माता चंद्रहासिनी का दर्शन कराना होगा। वही कोरेना गाइडलाइन को देखते हुए कानून व्यवस्था को बनाते हुए शांति बनाना होगा ।चंद्रपुर नगर यूं तो नगर पंचायत का दर्जा प्राप्त है ,मगर देखने वाली बात यह है कि नगर पंचायत ने अभी तक ना हीं बाहर से आये लोगो के लिए पीने के पानी के लिए  बेवस्था किया है। बस स्टैंड, और ना ही मंदिर तिराहा में पीने के पानी उचित व्यवस्था किया है।


जिससे बाहर से आने वाले लोगों को पीने का पानी के लिए परेशानी उठाना न पड़े। क्योंकि बाहरी आदमी जब माता चंद्रहासिनी के दर्शन करने पहुंचते हैं, तो उनको बस वाले बस स्टैंड में ही उतार देते हैं ।जिस पर उनके द्वारा वहां से मंदिर चौक पैदल चलकर आना होता है। और रास्ते में पीने का पानी की व्यवस्था नहीं होने के कारण लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है ।वही मंदिर तिराहे के पास भी नगर पंचायत को चाहिए कि लोगों के लिए उचित पानी पीने की व्यवस्था करें, अभी हाल में ही क्योंकि दशहरा पर्व का कार्यक्रम चल रहा है ,तो स्थानीय प्रशासन को चाहिए कि लोगों के लिए उजाले की व्यवस्था उचित हो, क्योंकि इन दिनों चन्द्रपुर नगर पंचायत में देखा जा रहा है कि खंभे ज्यादा हो गए हैं।  उजाले कम हो गए हैं, इसलिए नगरी प्रशासन को चाहिए कि उजाले की व्यवस्था को उचित ढंग से करें ताकि, लोगो को रात में आने जाने वाले लोगों को अंधेरे से परेशानी ना हो।