breaking news New

छुट्टी मनाने घर जा रहे स्कूली बच्चों का वाहन पलटा, 16 बच्चियां घायल, तीन बच्चियों की स्थिति गंभीर

 छुट्टी मनाने घर जा रहे स्कूली बच्चों का वाहन पलटा, 16 बच्चियां घायल, तीन बच्चियों की स्थिति गंभीर


कृष्णा नायक दोरनापाल

दोरनापाल ! शीतकालीन छुट्टी शुरु होते ही स्कूलों मे पढ़ने वाले बच्चे छुट्टी बिताने के लिए घर जाने लगते है आज सुबहा दोरनापाल मे संचालित कन्या आश्रम चिंतलनार और कन्या आश्रम कांकेरलंका की बच्चे मालवाहक पिकअप वाहन में  बैठ कर लगभग 35 से 40 बच्चे दोरनापाल से अपने घर के लिए निकले और तेमलवाड़ा सी.आर.पी.एफ कैंप के सामने वाहन पलट जाती हैं। 

कन्या अश्रम चिन्तलनार व कान्केरलन्का  कि अधीक्षिका द्वारा आज बच्चों के घर जाने के लिए  उचित व्यवस्था की गयी होती तो इतनी बड़ी दुर्घटना नही हुई होती लेकिन जिम्मेदार अपने जिम्मेदारी अच्छे से निभा नही रहे है। 

बच्चों के घर जाने के लिये गाड़ी की व्यवस्था नही की गयी जिसके बाद बच्चे मालवाहक वाहान से घर जाने लगे। जो दोरनापाल से निकल कर तेमलवाड़ा पहुंची और करीब 10:40 बजे तैमलवाड़ा सी.आर.पी.एफ 74 बटालियन वा 241 बस्तरिया बटालियन के कैंप के समाने अनियंत्रित होकर पलट जाती है।

घटना के वक़्त मालवाहक वाहन पर  35 से 40 बच्चे सवार रहते है। इस घटना मे कुल 16 बच्चियां घायल हो गए। जिसमे से तीन बच्चियों की  स्थिति गंभीर बनी हुई है। 


घायलों के नाम इस प्रकार हैँ

हेमला हिड़मे,हेमला जयन्ती, मड़कम उर्मिला, ताती प्रिया, ताती लैनिका,मडकम जोगी,

मडकम शांति,कुंजाम सुनीता,कलमु पोज्जे,कलमु भीमे, सोढ़ी दुले,मडकम पार्वती, नुप्पो पायके, मडकम सुजाता

241 बस्तरिया बटालियन  और सी.आर.पी .एफ  74 ने घायलो की मौक़े पर पहुंच कर की मदद

इस घटना की जानकारी जैसे हि तेमलवाड़ा सी.आर.पी.एफ कैंप में मौजूद अधिकारियों को मिली तो तत्काल घटना स्थल पहुंच कर सी.आर.पी.एफ 74 बटालियन और बस्तारिया बटालियन 241 द्वारा घायलो को वाहान से बाहर सुरक्षित निकालने के लिए जवानो ने जी तोड़ मेहनत की। इस दौरान तेमलवाड़ा मे  तैनात बस्तरिया बटालियन 241 वीं वाहिनी कि असिस्टेंट कमांडेड शांति तिरकी ने घायल बालिकाओं को बचाने के लिए काफी मशक्क्त की सभी घायलो को दुर्घटनाग्रस्त वाहन से बाहर निकल कर मरहम पट्टी की और चिन्तागुफा से एम्बुलेंस मंगवा कर चिन्तागुफा स्थित स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के लिए भेजा है !

जिसमे एम्बुलेस चालक दिलीप कुमार नायक, ने सभी घायलो को समय रहते पहुंचाया। जिसके बाद चिंतागुफा थाना प्रभारी अशोक यादव, प्रदीप राजपूत,राजेश सोरी ,सन्नी  कुर्रे चिन्तागुफा थाना स्टाफ द्वारा बच्चों की प्राथमिक उपचार के बाद चिंतागुफा मे करवाया गया। घायलो मे तीन की नाजुक स्थिति को देखते हुए चिंतागुफा स्वास्थ्य प्रभारी ने सभी बच्चों को अच्छे उपाचार के लिए दोरनापाल रिफर कर दिया।

धीमी  रफतार ने बड़े हादसे को होने से टाला

वाहन की रफतार धिमी थी इस वजह से आज स्कूली बच्चों के साथ बड़ा हादसा होने से टल गया है।