breaking news New

महंगे बाइक का शौक व फैशनेबल कपड़े खरीदने के लालच में कर दिया चौकीदार की हत्या

महंगे बाइक का शौक व फैशनेबल कपड़े खरीदने के लालच में कर दिया  चौकीदार की हत्या


भिलाई, 19 जून।   भिलाई 3 थाना अंतर्गत ग्राम नंदोरी के सेवा सहकारी समिति भवन में 2 दिन पहले हुई चौकीदार की हत्या का मामला पुलिस महज 24 घंटे के भीतर  सुलझा लिया है। हत्या का आरोपी सोसायटी के लिपिक का बेटा निकला। हत्या की वजह महंगे बाइक का शौक व फैशनेबल कपड़े खरीदने के लालच में बनाई गई चोरी की योजना है। चोरी करने पहुंचे आरोपी को चौकीदार ने देख लिया था। शोर मचाने पर लोहे के सब्बल से वार कर आरोपी ने चौकीदार की हत्या कर दी। मामले में पुलिस ने आरोपी नीतिश कुमार बंजारे को गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास से पुलिस ने घटना में प्रयुक्त सब्बल, चोरी की रकम व एक चोरी की बाइक बरामद की है। घटना का खुलासा शनिवार को पुलिस कंट्रोल रूम में एएसपी संजय ध्रुव व छावनी सीएसपी विश्वास चंद्राकर मौजूदगी में हुआ।

घटना का खुलासा करते हुए एएसपी संजय ध्रुव ने बताया कि हत्या का आरोपी सेवा सहकारी समिति के लिपिक ओमप्रकाश बंजारे का बेटा नीतिश कुमार बंजारे (21) है। उन्होंने बताया कि चौकीदार हरिशंकर की हत्या के बाद पुलिस की अलग-अलग टीमों ने बारीकी से जांच की। जिसमें यह यह बात निकल कर सामने आए कि आरोपी आस पास का ही है। इसी एंगल पर पुलिस ने अपनी जांच की दिशा आगे बढ़ाई। पूछताछ में पता चला कि समिति में कई किसानों का पैसा जमा है और सोसाइटी की चाबी लिपिक ओमप्रकाश बंजारे के पास रहती थी। ओमप्रकाश बंजारे का बड़ा लड़का रविशंकर बंजारे भी सोसाइटी में अतिरिक्त कर्मचारी के रूप में काम करता था। 

पूछताछ में यह पता चला कि 16 जून को ओमप्रकाश बंजारे के छोटे बेटे नीतिश बंजारे ने सोसाइटी में जमाव रुपए को लेकर अपने भाई से बात की थी। इसके बाद पुलिस के शक की सुई नीतीश बंजारे के तरफ  घूम गई। नितिश बंजारे को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई पहले तो वह टालमटोल करता रहा। कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने हत्या और चोरी की घटना को अंजाम देना स्वीकार किया। पुलिस के अनुसार आरोपी नीमिश के अनुसार 16 जून की रात को पिताजी के पेंट की जेब से सोसाइटी की अलमारी की चाबी निकाल ली। उसके बाद पहले से चोरी की हुई बाइक से सोसाइटी पहुंचकर चैनल गेट का ताला सब्बल से तोड़ दिया। सोसायटी के कमरे में जाने के बाद आसानी से अलमारी खोलने लगा लेकिन आवाज सुनकर चौकीदार जाग गया। यह देख नीतिश बंजारे ने चौकीदार हरिशंकर के सीने पर सब्बल से हमला कर दिया। शोर मचाने पर नीतीश बंजारे ने चौकीदार हरिशंकर के सिर पर वार किया। जिससे वह पलंग पर गिर गया और उसकी मौत हो गई। इसके बाद नीतीश बंजारे ने चौकीदार के मोबाइल की बैटरी निकाल दी और अलमारी में रखी नगदी 800510 रुपए तथा घटना में प्रयुक्त लोहे का सब्बल और टूटा ताला लेकर फरार हो गया। 

गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने आरोपी नीतिश के पास से घटना में प्रयुक्त लोहे का सब्बल व मोटरसाइकिल व एक प्लेजर सीजी 07 एएस 7834 बरामद किया गया। पूरी कार्रवाई में थाना प्रभारी विनय सिंह बघेल, उप निरीक्षक प्रकाश शुक्ला, दुर्गेश वर्मा, पेट्रोलिंग स्टाफ सहायक उप निरीक्षक राजेश पांडेय, आरक्षक राकेश सिंह, सुधीर सिंह, कृष्ण सिंह, विजय सिंह, हरीश राव, मोहम्मद हाफिज साबरी, प्रकाश साहू, राजेश चंद्र, नंद लाल सिंह, ईश्वर लाल भारद्वाज, निखिल गुप्ता व सिविल टीम के रिंकू सोनी, सत्येंद्र मढैया, अरविंद मिश्रा की उल्लेखनीय भूमिका रही।