breaking news New

छत्तीसगढ़ रत्न शिरोमणी ‌, महत्तरा पद विभूषिता पूज्य गुरुवर्या श्री मनोहर श्री जी महराज सा का जन्म शताब्दी समारोह का आयोजन धमतरी में

छत्तीसगढ़ रत्न शिरोमणी ‌, महत्तरा पद विभूषिता पूज्य गुरुवर्या श्री मनोहर श्री जी महराज सा का जन्म शताब्दी समारोह का आयोजन धमतरी में

धमतरी, 15 फरवरी। पूज्य श्री लयस्मिता श्री जी म सा आदि ठाणा की निश्रा मे श्री जैन श्वेताम्बर मूर्ति पूजक संघ के तत्वावधान में पूज्य मनोहर श्री जी महाराज सा की जन्म शताब्दी समारोह का तीन दिवसीय कार्य क्रम का आयोजन किया गया है। पूज्य मनोहर श्री जी का जीवन परिचय

संवत १९६९माघ सुदी पंचमी का वह दिन जब राजस्थान के फलोदी निवासी श्री रावलमल जी जियो बाई राखेचा के आंगन में नन्ही परी का जन्म हुआ। उनके एक भाई सुश्रावक श्री गुलाब चंद जी राखेचा थे। कुछ समय उपरांत  राखेचा परिवार धमतरी आकर बस गया।नौ वर्ष की आयु में आपका विवाह लोहावट में हुआ।समय चक्र में ऐसा परिवर्तन आया कि आपने 12वर्ष की उम्र में पांच महाव्रत धारण कर दीक्षा अंगीकार की।16वर्ष की उम्र में आपने पालीतणा तीर्थ में वर्षी तप की पारणा की ।सु‌श्राविका कमला बेन जीवन पर्यन्त आपकी सहयोगी रही। सांसारिक जीवन में आपकी कर्म भूमि धमतरी रही पूज्य श्री को मिगसर बंदी 3 संवत 2036दिनांक7नवबंर79को धमतरी में छत्तीसगढ़ रत्न शिरोमणी की उपाधि से विभूषित करने का सौभाग्य धमतरी संघ को मिला। सूर्य हमें पसंद है क्योंकि उसके पास प्रकाश है, इसलिए नहीं। बल्कि वह जगत को प्रकाश देना है, इसलिए।

नदी को हम नमस्कार करते हैं, कारण उसके पास जल  है इसलिए नहीं, बल्कि जगत को वह पानी देती है इसलिए। वृक्ष की हम प्रसंशा करते हैं कारण उसके पास फल है इसलिए नही, बल्कि जगत को वह फल अर्पण करती है इसलिए।

गुरु को हम वन्दन करते हैं, क्योंकि उनके पास ज्ञान की पूंजी है  इसलिए नहीं, बल्कि ज्ञान की धारा से सारे संघ समाज में सम्यक बनाते हैं। ऐसे ही ज्ञान की गंगोत्री, परोपकारी समता सरलता सौम्यता की धनी हमारी ही अपनी गुरुवरया छत्तीसगढ़ रत्न शिरोमणी, महत्तरा पद विभूषिता परम पूज्य गुरुवर्या श्री मनोहर श्री जी महाराज सा, जिनकी 99वी जन्म जयंती का शुभ अवसर बसंत पंचमी की शुभ बेला में उपस्थित हो रहे हैं। उपकारी गुरूवर्या श्री के उपकार को याद करने 14फरवरी रविवार को प्रातः 6बजे पुणीयां श्रावक की सामायिक। 15फरवरी सोमवार प्रातः 8 बजे शुक्र स्तव अभिषेक, बैंगलोर निवासी श्री गौतम चन्द शाह के द्वारा सम्पन्न कराया जायेगा।

16फरवरी मंगलवार सुबह साढ़े आठ बजे गुरु गुणानुवाद स्तुतिउ एवं सरस्वती महापूजन। सन्ध्या 7बजे विविध सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे।

उपरोक्त जानकारी सतीश नाहर ने    दी।