breaking news New

आपदा में अवसर ढूंढ रहे पान मसाला व्यापारी, राशन व्यापारी

आपदा में अवसर ढूंढ रहे पान मसाला व्यापारी, राशन व्यापारी


भ्रष्ट लोगों के लिए रूपया कमाने का मौका है कोरोना काल, जमकर कालाबाजारी  

तिल्दा नेवरा/ जहां एक ओर देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है, वहीं कुछ भ्रष्ट लोग रुपया कमाने का मौका खोज रहे हैं। पिछले वर्ष लॉकडाउन के दौरान पान मसाला व तंबाकू गुड़ाखू, राशनमिलना  बंद हो गए थे, जिसके बाद चोरी चुपके पान मसाला और तंबाकू गुड़ाखू राशन पर जमकर कालाबाजारी की गई थी। अब कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर के चलते संक्रमितों की संख्या में एका-एक इजाफा हुआ है। ऐसे में कुछ लोग महामारी में कमाने का अवसर खोज रहे हैं। व्यापारियों ने पान मसाला और तंबाकू  गुड़ाखू आदि का स्टाक करके उस पर कालाबाजारी शुरू कर दी है। 

लॉक डाउन की सुगबुगाहट से एजेंसी होल्डर ने पान मसाला व तंबाकू की कालाबाजारी शुरू कर दी है। व्यापारियों के मुताबिक उन्हें एजेंसी से ही पान मसाला व तंबाकू ओवर रेट पर मिल रहा है। फुटकर में पान मसाला दो से तीन रुपये महंगा हो गया है। वहीं पैकेट पर 50 से 200 रुपये तक कालाबाजारी की जा रही है। जिससे आम लोगों को हो रही है परेशानियां।