breaking news New

कंधार सेंट्रल जेल पर तालिबान ने किया हमला, कई कैदियों को छुड़ाया

कंधार सेंट्रल जेल पर तालिबान ने किया हमला, कई कैदियों को छुड़ाया

कंधार। अफगानिस्तान पर तेजी से कब्जा जमा रहे तालिबान ने कंधार शहर में बड़ी कार्रवाई की है। तालिबान ने कंधार सेंट्रल जेल पर हमला कर इसे तोड़ दिया। इसके बाद यहां पर बंद सैकड़ों राजनीतिक कैदियों को रिहा करवा लिया। इस पूरी घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। तालिबान कंधार सेंट्रल जेल को जीतने में कामयाब रहा।

तालिबान पिछले महीने भी इस जेल पर हमला कर चुका था। लेकिन उसे कैदियों को छुड़ाने में कोई सफलता हाथ नहीं लगी थी। फिर उसने पूरी ताकत के साथ कंधार जेल पर हमला किया। ऐसे हमलों से अफगान सरकार को सीधे चुनौती दी जा रही है।

तालिबानी आतंकियों ने कुंदुज प्रांत में अफगान सेना के मुख्यालय पर भी कब्जा कर लिया। तालिबान ने उत्तर पूर्वी बदख्शन प्रांत की राजधानी फैजाबाद पर कब्जा किया था। तालिबान ने गत पांच दिनों में नौ प्रांतीय राजधानियों पर कब्जा कर लिया है। 

वहीं, तालिबान ने भारत द्वारा 2019 में अफगान सेना को तोहफे में दिए एमआई-24 लड़ाकू हेलिकॉप्टर पर कब्जा कर लिया है। कुदुंज एयरपोर्ट पर कब्जे के दौरान तालिबान ने इसे हथिया लिया। अफगानिस्तान में स्थित भारतीय दूतावास ने एक सुरक्षा एडवायजरी में वहां रहने वाले भारतीय नागरिकों को देश वापसी की तत्काल तैयारियां करने की सलाह दी गई है। इसके साथ ही दूतावास ने भारतीय कंपनियों से कहा है कि वह अफगानिस्तान में अपने परियोजना स्थलों से भारतीय नागरिकों को तत्काल प्रभाव से वापस बुलाएं।

इतना सबकुछ इसलिए होता दिख रहा है क्योंकि अफगानिस्तान में कई साल बाद फिर तालिबान की सक्रिय रूप से वापसी हो रही है। कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि तालिबान ने देश के 70 फीसदी से ज्यादा हिस्से पर अपना कब्जा जमा लिया है। उनके कदम तेजी से अब काबुल की तरफ बढ़ रहे हैं। लेकिन इन तमाम दावों को अफगान सरकार खारिज कर रही है।

अफगानिस्तान में तालिबान ने तीन और प्रांतों की राजधानियों और सेना के स्थानीय मुख्यालय पर कब्जा कर लिया है। इसके साथ ही देश के पूर्वोत्तर हिस्से पर तालिबान का पूर्ण कब्जा हो गया है।

जिन तीन प्रांतों पर तालिबान का कब्जा हुआ है उनमें पूर्वोत्तर में बदख्शां और बगलान तथा पश्चिम में फराह प्रांत की राजधानी शामिल है। उधर, कुंदुज प्रांत का अहम ठिकाना भी अफगान बलों के हाथ से निकल चुका है। 

तीन प्रांतों पर नियंत्रण के साथ ही तालिबान के कब्जे में अफगानिस्तान का दो तिहाई हिस्सा चला गया है। अमेरिकी और नाटो सैनिकों की अंतिम वापसी के बीच दो दशक की लड़ाई के बाद तालिबान का यह कब्जा हुआ है।

कुंदुज प्रांत के अहम ठिकाने पर तालिबान के नियंत्रण से अफगानिस्तान की संघीय सरकार पर अपनी स्थिति मजबूत करने का दबाव बढ़ गया है। राष्ट्रपति अशरफ गनी युद्धग्रस्त बल्ख प्रांत के दौरे पर गए हैं ताकि तालिबान को पीछे धकेलने के लिए स्थानीय सरदारों की मदद मांगी जा सके।

इस बीच, बदख्शां प्रांत के सांसद हुजातुल्ला खेरादमंद ने बताया कि तालिबान ने उनके सूबे की राजधानी फैजाबाद पर कब्जा कर लिया है। उधर, बगलान की राजधानी पोली खुमरी और फराह की राजधानी भी तालिबान के हाथ में जा चुकी है। तालिबान कब्जे वाले क्षेत्रों में महिलाओं पर पाबंदियां लगा दी गई हैं और स्कूलों को जला दिया गया है।