breaking news New

उत्तराखंड : अब तक 18 की मौत, 203 लापता, तपोवन टनल रेस्क्यू में जुटे सैकड़ों जवान, क्रिकेटर मदद को आगे आए

उत्तराखंड : अब तक 18 की मौत, 203 लापता, तपोवन टनल रेस्क्यू में जुटे सैकड़ों जवान, क्रिकेटर मदद को आगे आए

नई दिल्ली. उत्तराखंड के चमोली जिले में रविवार को नंदा देवी ग्लेशियर का एक हिस्सा टूटने के कारण ऋषिगंगा घाटी में अचानक विकराल बाढ़ आ गई. फिलहाल तपोवन टनल में रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है.

चमोली में ग्लेशियर टूटने से मची तबाही के बाद कई गांवों से संपर्क टूट गया है. जिलाधिकारी स्वाति भदोरिया ने बताया कि रेस्क्यू अभियान लगातार जारी है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब तक इन गांवों में वैकल्पिक व्यवस्था या पुल तैयार नहीं हो जाता तब तक हैली से यहां पर रसद पहुंचाया जाएगा.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि तपोवन प्रोजेक्ट का काम चल रहा था, इसमें बड़ी संख्या में श्रमिक काम कर रहे थे. अभी भी 203 लोग लापता हैं. उन्होंने कहा, 'मैंने अपने मुख्य सचिव को बोला है कि यहां मौजूद इसरो के वैज्ञानिकों की मदद से ग्लेशियर टूटने के कारणों को ढूंढा जाए ताकि भविष्य में हम एहतियात बरत सके.'

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि हमारे बहादुर जवान रातभर के बचाव कार्य के पश्चात सुरंग के मुहाने तक पहुंच गए हैं. बचाव कार्य जोरो से चल रहा है और हम और अधिक लोगों की जान बचाने की उम्मीद कर रहे हैं.

डीआईजी अपर्णा कुमार ने बताया कि बड़ी टनल को 70-80 मीटर खोला गया है, जेसीबी से मलबा निकाल रहे हैं. यहां कल से 30-40 कर्मी फंसे हुए हैं.आईटीबीपी, उत्तराखंड पुलिस, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और सेना यहां संयुक्त ऑपरेशन कर रही है. करीब 153 लोग लापता हैं.

उत्तराखंड के चमोली में जोशीमठ के पास ग्लेशियर टूटने के चलते आई भीषण बाढ़ में जानमाल के नुकसान से आहत भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत ने राहत और बचाव के लिए एक मैच की फीस देने की घोषणा की है. वो भारत और इंग्लैंड के बीच चेन्नई में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम के सदस्य हैं. पंत ने लोगों से अपील की कि वे भी मदद करें. पंत ने एक ट्वीट में कहा, 'उत्तराखंड में हुए हादसे से बहुत दुख हुआ. राहत, बचाव के लिए अपनी मैच फीस देना चाहूंगा और अधिक लोगों से मदद करने की अपील करूंगा.